To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

कटानरोधी कार्य का सच देखने पहुंची बलिया डीएम, बाढ़ विभाग ने ऐसे बोला सफेद झूठ


बलिया। चौबे छपरा, हुकुम छपरा व पचरुखिया में गंगा किनारे चल रहे कटानरोधी कार्य का निरीक्षण गुरुवार को जिलाधिकारी अदिति सिंह ने किया। कार्य में हो रहे विलम्ब पर जिलाधिकारी का तेवर तल्ख दिखा। उन्होंने एक्सईएन से प्रोजेक्ट के बारे में पूछताछ करते हुए कार्य  में किसी भी तरह की ढिलाई न होने की हिदायत दी। बोली, किसी भी प्रोजेक्ट में समय और गुणवक्ता का पूरा-पूरा ख्याल रखा जाए। 
पूर्वांचल24 के संवादाता ने एक स्थान पर दस स्क्वायर फुट की एरिया में धंसे बोल्डर के बारे जिलाधिकारी का ध्यान दिलवाया, जिसका जबाब एक्सईएन संजय मिश्रा ने दिया।एक्सईएन ने बताया कि हमे इस बारे में पूरा ध्यान है। इसका पुनः अवलोकन कर क्षतिग्रस्त बोल्डर को ठीक कर दिया जाएगा।वही खराब बार-बार खराब मौसम और कार्य की धीमी गति पर एक्सईएन का कहना था कि कार्य लगभग 60% पूर्ण हो गया है। शेष कार्य 15 जून तक हर हाल में पूर्ण कर लिया जाएगा। 

5 दिन में कैसे पूरा होगा 40 प्रतिशत काम
बाढ़ विभाग के अधिकारी बेशक समय से कटानरोधी कार्य पूरा कर लेने का दम भर रहे हो, लेकिन धरातल पर कार्य अभी भी 40% भी पूर्ण नहीं हो पाया है। वही मौसम विभाग की माने तो पूरे पूर्वांचल में मानसून का आगमन इस साल 11 जून को हो रहा है। कहना गलत नही होगा कि यदि मानसूनी बारिश ने अपना रंग दिखाया तो कार्य पर पूर्ण विराम लगने में कोई शंका नही। ऐसे में एनएच-31 का जोखिम कई प्रतिशत बढ़ना तय है।

रवीन्द्र तिवारी

Post a Comment

0 Comments