To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : 500 मीटर की दूरी तय करने को 15 किलोमीटर का फेरा लगा रहे लोगों का टूटा सब्र, फिर...


मझौवां, बलिया। पचरुखिया रेवती मार्ग व अन्य संपर्क मार्गों पर निर्माण के नाम पर पांच पुलिया तोड़ दिए जाने के कारण हुए जलजमाव से ग्राम पंचायत कंचनपुर, देवा, छेड़ी, चौबे छपरा, पियरौटा, दिघार व रामपुर सहित लगभग एक दर्जन गांव की आबादी परेशान है। इन गांवों के लोगो को 500 मीटर की जगह 10 से 15 किलोमीटर घूमकर आवागमन करना पड़ रहा है। लोक निर्माण विभाग ने कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की, 
लिहाजा बुधवार को ग्रामीणों ने इंटक नेता विनोद सिंह के नेतृत्व में एक दिवसीय सांकेतिक धरना दिया। निर्णय लिया गया कि यदि 7 जुलाई तक पीडब्ल्यूडी द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था नहीं किया गया तो 8 जुलाई को भारी जन आंदोलन छेड़ा जाएगा। आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए अजीत सिंह नाहर, अजीत गुप्ता प्रधान कंचनपुर, प्रधान गोपाल जी, वीरेश तिवारी, अरविंद सिंह आदि ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी कि अब हम चुप नहीं बैठेंगे। रमेश चंद्र शर्मा, धन्नजी गोड़, लड्डू सिंह, अजीत सिंह नाहर, मुकेश सिंह, कृष्णकांत चौबे, विजय बहादुर सिंह, मनोज गोंड़, नवीन सिंह, ओमप्रकाश गिरी, दहारी राम, डॉ राजेश राम, पुट्टू सिंह, संतोष आदि सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। अध्यक्षता लोहर सिंह व संचालन अजय प्रताप सिंह व किशन पाल सिंह ने किया। शान्ति व्यवस्था के लिए रेवती थानाध्यक्ष यादवेन्द्र पान्डेय व हल्दी राजकुमार सिंह मौक पर तैनात रहे। वही धरना स्थल पर पहुंचे पीडब्ल्यूडी के अवर अभियंता आशुतोष शुक्ला व देवेंद्र कुमार ने आश्वासन दिया कि एक हफ्ते के अंदर वैकल्पिक व्यवस्था हर हालत में कर दिया जाएगा। 

टूटी कमर
रेवती थाना क्षेत्र के पियरौटा निवासी चनेश्वर गोंड टूटी पुलिया के पास नाव से पार कर रहे थे, तभी पैर फिसल गया और कमर टूट गई। परिजनों ने आनन-फानन में जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां उनका इलाज चल रहा है।

हरेराम यादव

Post a Comment

0 Comments