To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : बिजली विभाग के खिलाफ बड़े आंदोलन की सुगबुगाहट, 48 घंटे का अल्टीमेटम


बैरिया, बलिया। विकास की दौड़ में बिजली विभाग सांसद के भी पत्र का भी संज्ञान नहीं ले रहा है। इससे स्पष्ट हो रहा है कि बिजली विभाग पूरी तैयारी के साथ योगी सरकार की छवि धूमिल करने के लिए सुनियोजित तरीके से बैरिया विधानसभा क्षेत्र में लो वोल्टेज की आपूर्ति करने लगा हुआ है। जी हां ! हम बात कर रहे हैं विद्युत उपकेंद्र बैरिया व विद्युत उपकेंद्र लोक धाम ठेकहा की, जिनके सभी फीडरो पर एक वर्ष से लो वोल्टेज की समस्या गहराई हुई है। बावजूद इसके बिजली विभाग के कोई जिम्मेदार अधिकारी इसका संज्ञान नहीं ले रहे हैं। छोटे कर्मचारी यह कह रहे हैं कि दिघार पावर हाउस से बिजली कम आ रही है। इसके चलते लो वोल्टेज की समस्या है। यह जानकारी इंटक जिलाध्यक्ष विनोद सिंह को हुई तो उन्होंने सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त को 132 केवी केंद्र दिघार पर 33/11 केवीए का केबिल क्षमता वृद्धि करने के संबंध में सांसद वीरेन्द्र सिंह मस्त को पत्र लिखा। उस पत्र में उन्होंने बताया था कि दिघार विद्युत केंद्र से बैरिया तहसील के विद्युत उपकेंद्र बैरिया व लोक धाम ठेकहा की विद्युत आपूर्ति 33/11 केवीए केबिल  द्वारा आपूर्ति होती है। जिसकी क्षमता कम है। बार-बार ओवरलोड के चलते जलने से हमेशा बिजली बाधित रहती है। जब तक इस केबल को बदला नहीं जाएगा, बैरिया विधानसभा क्षेत्र की लो वोल्टेज की समस्या दूर नहीं होगी। विनोद सिंह के पत्र का गम्भीरता से संज्ञान लेते हुए सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने बिजली विभाग के प्रबंध निदेशक पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड वाराणसी को विगत 05 जुलाई 2020 को पत्र लिखकर दिघार के कम क्षमता वाले केबिल को अविलम्ब बदलने को कहा। एक वर्ष बितने का समय आने वाला है। अब तक उक्त केबिल को बदलना विभाग उचित नहीं समझा। ऐसे मेें उमस भरी भीषण गर्मी मे लोग त्राहिमाम कर रहे है।

एक्सईएन ने नहीं उठाया फोन
बैरिया विधानसभा क्षेत्र में लो वोल्टेज की समस्या को लेकर बलिया में तैनात बिजली विभाग के एक्सईएन एके गौतम से बार-बार दूरभाष पर संपर्क किया गया। लेकिन उन्होंने फोन रिसीव करना उचित नहीं समझा। कहीं ना कहीं इस विद्युत समस्या को लेकर  विभाग के जिले के आला अधिकारी ही जिम्मेदार है, जिसके लिए आम जनता अब चुप बैठने वाली नहीं है।

48 घंटे का अल्टीमेटम
बैरिया विधानसभा के विभिन्न उपकेन्द्र के फीडरो पर बिजली की लो वोल्टेज आपूर्ति  की समस्या को लेकर इंटक के जिलाध्यक्ष विनोद सिंह ने चेताया है कि 48 घंटे के अंदर अगर दिघार विद्युत केंद्र का कम क्षमता वाला केबिल बदला नहीं गया तो इसके लिए बड़ा आंदोलन खड़ा किया जाएगा। आम जनता के साथ दिघार विद्युत उपकेंद्र को बंद करने के अलावा विभागीय अधिकारियों को भी बख्शा नहीं जाएगा। उन्हे भी बन्धक बनाया जायेगा। सांसद जी के पिछले वर्ष जुलाई में पत्र लिखने के बाद भी बिजली विभाग के बेशर्म अधिकारियों ने कोई एक्शन नही लिया। उन्होंने बैरिया विधानसभा की बगावती जनता से आह्वान किया है कि होने वाले इस आंदोलन में बढ़-चढ़कर भाग ले।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments