To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

पत्नी की हत्या और सात बच्चों को घायल कर ट्रेन के सामने कूदा सिपाही, गांव में मातमी सन्नाटा


गाजीपुर। दिलदारनगर नगर थाना अंतर्गत उसिया गांव में शनिवार की सुबह एक सिपाही ने धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर दी। मां के बचाव में आये अपने सात बच्चों को भी धारदार हथियार से घायल कर सिपाही ट्रेन के आगे कूद गया। पुलिस की मदद से सभी को जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सकों ने महिला को मृत घोषित कर दिया। बच्चों का उपचार चल रहा है। पुलिस ने सिपाही और उसकी पत्नी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। 


उसिया गांव निवासी मुंशी यादव (42) की तैनाती प्रयागराज में थी। जनवरी में उसका स्थानांतरण फतेहपुर हुआ था। वहां पुलिस लाइन में आमद कराकर वह 5 जनवरी से ही मेडिकल लीव पर घर आ गया था। शुक्रवार की रात वह परिवार के साथ रात में छत पर सोया था। शनिवार की भोर में किसी बात को लेकर पत्नी रीना देवी (38) से तकझक हो गई। फिर सिपाही ने रीना देवी पर धारदार हथियार से वारकर कर दिया। मां की चीख-पुकार सुन पुत्री नेहा (16), रीतू (13), नीतू (10) तथा वर्षा (8) की नींद टूट गई। वह जैसे ही आगे बढ़ी सिपाही ने उन्हें भी लहूलुहान कर दिया। यही नहीं, सो रही पुत्री सुधा (6), कृष्णा (2) और श्याम (7) पर भी जानलेवा हमला कर घायल कर दिया। चीखें सुन आरोपी के बड़े भाई की पत्नी घटना स्थल पर पहुंची तो सभी को लहूलुहान देख वह बेहोश होकर गिर पड़ी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को जिला अस्पताल भेजा, जहां रीना देवी को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। घायल  सुधा, कृष्णा व श्याम की हालत नाजुक बताई जा रही है। वहीं, आरोपी सिपाही ने ककरही डेरा के सामने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। पुलिस ने सिपाही के क्षत विक्षत शव को भी कब्जे में लिया। अचानक घटी इस घटना ने हर किसी को झकझोर दी है। गांव में मातमी सन्नाटा फैला हुआ है। थानाध्यक्ष कमलेश पाल ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है।

Post a Comment

0 Comments