दुल्हन नहीं बन सकी शिक्षिका, शादी के दिन ही कोरोना से मौत


जौनपुर। शादी के दिन ही एक शिक्षिका की जान कोरोना ने ले ली। इस घटना से परिवार में कोहराम मच गया है। सबसे बड़ी विडंबना यह है कि कोरोना से मौत के कारण परिवार वाले बेटी का अंतिम दर्शन भी नहीं कर सके।मुंगराबादशाहपुर नगर के गुड़हाई मोहल्ले की इस घटना ने हर किसी को झकझोर दी है। 
गुड़हाई निवासी संतोष मोदनवाल की 25 वर्षीय पुत्री ज्योति मोदनवाल की शादी 30 अप्रैल को रीवा निवासी एक अध्यापक के साथ होनी थी। ज्योति मेरठ जिले में बतौर सहायक अध्यापिका तैनात थी। वहां पंचायत चुनाव में उसकी डयूटी लगी थी। इसी दौरान ज्योति संक्रमण की जद में आ गई। ड्यूटी से छूटने के बाद तबीयत बिगड़ने पर वह शुभेच्छुओं के साथ अस्पताल गई। जांच में कोराना पाजिटिव निकला। मेरठ में ही इलाज शुरू हुआ, जहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई। इसकी सूचना मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। शादी के दिन ही बेटी की मौत से पूरा परिवार सदमे में हैं। 

Post a Comment

0 Comments