To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया में 150 से अधिक निर्वाचित प्रधान नहीं ले सकेंगे शपथ ! ये है वजह


बलिया। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का परिणाम आए 20 गुजरने को हैं, लेकिन निर्वाचित प्रधानों की ताजपोशी नहीं हो सकीं। शपथ ग्रहण कब होगा ? कैसे होगा ? इस सोच में इनकी धड़कन घट-बढ़ रही हैंं। वहीं, जिले में कुछ ग्राम पंचायतों के गठन पर भी संशय है, क्योंकि वहां ग्राम पंचायत सदस्यों की संख्या दो तिहाई नहीं है। ऐसे में उन ग्राम पंचायतों के निर्वाचित ग्राम प्रधानों को शपथ भी नहीं दिलाई जाएगी।उधर, जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लाक प्रमुख पद के दावेदारों यह डर सताने लगा है कि कहीं उन्हें समर्थन देने वाले सदस्य का 'मन' न बदल जाय। इसलिए दावेदार दिन-रात फील्ड में ही नजर आ रहे है। 

गौरतलब हो कि 02 मई को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना हुई। जिले की 940 ग्राम पंचायतों को प्रधान, 58 जिला पंचायत सदस्य तथा 17 ब्लाकों को नव निर्वाचित क्षेत्र पंचायत सदस्य मिले। लेकिन इनके शपथ ग्रहण की तारीख अब तक घोषित नहीं हुई है। बावजूद इसके कुछ प्रधान इस कोरोना काल में अपने स्तर से गांव में सैनेटाइज वगैरह का काम अपनी जिम्मेदारी समझ करा रहे है, लेकिन 'गांव की सरकार' की कमान नहीं सभाल पा रहे। इससे इतर बहुत ग्राम पंचायतें ऐसी है, जहां गांव की सरकार अभी नहीं बन पाएगी। कारण कि कुछ ग्राम पंचायत सदस्यों के पद खाली रह गये है। ऐसे में सदस्यों का कोरम पूरा होने तक उन ग्राम पंचायतों का गठन होना सम्भव नहीं है। फिर, उन ग्राम पंचायतों के प्रधानों का शपथ ग्रहण भी टल सकता है। जिला प्रशासन ऐसी ग्राम पंचायतों को चिंहित कर रहा है। उम्मीद है कि शनिवार शाम तक ऐसी ग्राम पंचायतों की प्रमाणिक संख्या सामने आ जायेगी। वैसे पूर्वांचल24 के पास बेलहरी, दुबहर, रेवती, बैरिया व मुरलीछपरा ब्लाक की रिपोर्ट पर गौर करे तो जिले के 17 ब्लाकों में 150 से अधिक ग्राम पंचायतों के प्रधान शपथ लेने से वंचित रह सकते है।

Post a Comment

0 Comments