To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : बेब‌िनार के माध्यम से नई शिक्षा नीति के बारे में दी गई जानकारी

अब कक्षा 11 एवं 12 में कला वर्ग के छात्र वैकल्पिक विषय के रूप में एनसीसी की कर सकेंगे पढ़ाई



बलिया। एनसीसी बीएचयू वाराणसी ग्रुप ए के ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर नरिंद्र सिंह के निर्देश पर कमान अधिकारी 90 उत्तर प्रदेश वाहिनी एनसीसी बलिया द्वारा नई शिक्षा नीति के तहत एनसीसी को एक ऐच्छिक विषय के रूप में मान्यता दिए जाने की यूजीसी के निर्णय को बेब‌िनार के माध्यम से विस्तृत जानकारी दी गई। ढाई घंटे तक चलने वाले इस वेब‌िनार का संचालन कमान अधिकारी स्वयं कर रहे थे।

वेबीनार में नई शिक्षा नीति के तहत होने वाले परिवर्तन के बारे में विस्तार रूप से जानकारी दी गई। यूनिवर्सिटी स्तर पर स्नातक कक्षाओं में एनसीसी को सिक्स सेमेस्टर में विभाजित किया गया है। जिसमें कुल 24 क्रेडिट प्वाइंट होंगे। प्रथम एवं द्वितीय सेमेस्टर में चार प्वाइंट तथा तृतीय एवं चतुर्थ सेमेस्टर में 10 प्वाइंट और पांचवें तथा छठे सेमेस्टर में 10 प्वाइंट शामिल हैं। कमान अधिकारी ने बताया कि यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर को अपने अपने स्तर से एनसीसी को वैकल्पिक विषय के रूप में लागू करने का निर्देश दिया है। यूपी बोर्ड द्वारा संचालित माध्यमिक विद्यालयों में कक्षा 11 एवं 12 में कला वर्ग के छात्र वैकल्पिक विषय के रूप में एनसीसी की पढ़ाई कर सकेंगे। इसके संबंध में सरकार ने 7 अप्रैल 2021 को माध्यमिक शिक्षा परिषद के भी नियमों में संशोधन भी कर दिया है। इस प्रकार छात्र-छात्राओं को वैकल्पिक विषय के रूप में एनसीसी विषय चुनने का सुनहरा अवसर प्राप्त होगा तथा कैडेटों को राज्य एवं केंद्र सरकार की नौ‌करियों में प्रोत्साहन प्राप्त होगा।

Post a Comment

0 Comments