To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : वित्त एवं लेखाधिकारी की कार्यप्रणाली पर प्राशिसं नाराज, दी चेतावनी


बलिया। वित्त एवं लेखाधिकारी (बेसिक शिक्षा) की लापरवाही के चलते शिक्षकों के वेतन में हमेशा बिलम्ब हो रहा है। इस माह भी देश के सबसे बड़े पर्व में से एक ईद पर भी वेतन मिलने पर ग्रहण लगा हुआ है। 
जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह ने वित्त एवं लेखाधिकारी के कार्यप्रणाली की जमकर आलोचना की। कहा कि शासन की मंशा और व्यवस्थाओं में माह की पहली तारीख को वेतन देने का निर्देश है, लेेेकिन बलिया में प्रत्येक माह दूसरे सप्ताह वेतन मिलना तय हो चुका है। हर माह ब्लाकों से वेतन परिवर्तन (variation) न आने का बहाना बनाकर देरी की जाती है। वेरिएशन न आने पर जिम्मेदारी तय क्यों नहीं की जाती ? उसके खिलाफ बीएसए को कार्रवाई करने के लिए पत्र क्यों नहीं लिखा गया ? कहा कि लगातार प्रयास के बाद सोमवार को भी वेतन बिल ट्रेजरी नहीं भेजा गया। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि वित्त एवं लेखाधिकारी के खिलाफ लोकतांत्रिक ढंग से विरोध किया जाय। कोरोना महामारी, शादी विवाह का होना और ईद पर वेतन न दिया जाना घोर लापरवाही का द्योतक है। वहीं, 69000 भर्ती प्रक्रिया के तहत नवनियुक्त शिक्षकों, जिनका सत्यापन आ गया है और अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण से आए शिक्षकों का वेतन तत्काल देने की मांग किया है। कहा है कि जब LPC और मानव सम्पदा कोड स्थानान्तरण के बाद वेतन देने की शासन की व्यवस्था है तो इन शिक्षकों का वेतन क्यों नहीं दिया जा रहा है ? जिलाध्यक्ष ने वित्त एवं लेखाधिकारी की कार्यप्रणाली की आलोचना करते हुए चेतावनी दी कि पहली को वेतन न मिलने पर आन्दोलन झेलने को तैयार रहें। 

Post a Comment

0 Comments