To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया में प्रभारी मंत्री ने दिया स्पष्ट निर्देश, कहा...


बलिया। प्रभारी मंत्री अनिल राजभर ने गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में कोविड रोकथाम के प्रयासों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि स्वच्छता व सेनेटाइजेशन पर विशेष जोर देने की आवश्यकता है। हमारे प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री जी का भी इस पर विशेष फोकस है। यह भी कहा कि इस महामारी के दौर में भी अगर कोई लापरवाही बरतता है तो उस पर एक्शन लेने में देर न हो। 

प्रभारी मंत्री ने फेफना कोविड अस्पताल में साफ-सफाई की स्थिति ठीक नहीं होने पर सीएमओ से सवाल किया और सख्त लहजे में वहां सुधार लाने की चेतावनी दी। उन्होंने कंट्रोल एन्ड कमांड सेंटर संचालन से जुड़ी जानकारी ली। कहा कि कोविड नियंत्रण में कमांड सेंटर के महत्वपूर्ण योगदान को देखते हुए वहां संचालित हर सेल के कार्य की जिलाधिकारी व सीडीओ लगातार मॉनिटरिंग करते रहें।

टास्क फोर्स बनाकर पहले से कर लें तैयारी

कोरोना तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए जिले स्तर पर एक टास्क फोर्स बनाने की बात चल रही है, जिसके जरिए गर्भवती महिलाओं व बच्चों को विशेष परिस्थिति में सहयोग किया जा सके। इस कार्य को प्राथमिकता पर लेकर करना है। अभी भी जो ट्रेनिंग व ट्रीटमेंट प्रोटोकाल सुनिश्चित कराना है, उसे जल्द करा लें। कुल मिलाकर आगे विशेष प्रकार की चुनौती का सामना करने वाली एक टीम खड़ा कर लेना हम सबका उद्देश्य होना चाहिए। जिलाधिकारी ने बताया कि वेंटिलेटर से लैस 30 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू तैयार करने की कार्यवाही चल रही है।

निगरानी समिति हमेशा रहे सक्रिय

सबसे कारगर प्रयास में एक निगरानी समिति के कार्य के बारे में प्रभारी मंत्री ने सबसे राय ली। कहा कि इन समितियों को हमेशा सक्रिय रखा जाए। मंत्री ने कहा कि निगरानी समिति के कार्यों की रैंडम तरीके से क्रॉस चेकिंग भी कराएं। समितियां कागज पर ही नहीं चले, बल्कि धरातल पर भी उसका बेहतर कार्य दिखना चाहिए। दवा किट का जो वितरण होता है उसकी रिपोर्ट क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों को भी दे दी जाए, ताकि वे लोग अपने स्तर से भी सत्यापन करा सकें। 

रोस्टर बनाकर युद्धस्तर पर हो टेस्ट

राज्यमंत्री (स्वतन्त्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी ने कहा कि गांव में इच्छुक लोग का कोरोना टेस्ट आसानी से हो सके, इसके लिए ग्राम पंचायतवार रोस्टर बना दिया जाए। आरआरटी टीम के माध्यम से मेडिसिन किट का वितरण समय पर कराने के साथ उसकी प्रतिदिन की रिपोर्ट शेयर करें। उन्होंने कहा कि विधायक निधि से एक करोड़ रुपये दिए हैं तो उसका सदुपयोग कर अस्पतालों में कमियों को दूर कर दिया जाए।  

मंडल में सबसे ज्यादा ऑक्सीजन कन्संट्रेटर जिले में

जिलाधिकारी अदिति सिंह ने कोविड रोकथाम के प्रयासों के बारे में विस्तार से बताया। कहा, मंडल में सबसे ज्यादा ऑक्सीजन कन्संट्रेटर (132) जिले में उपलब्ध है। पहले से बंद पड़े सभी 18 वेंटिलेटर को काफी प्रयास करके चालू कराया गया। कमांड सेंटर सुचारू रूप से क्रियाशील है। बैठक में राज्यसभा सांसद सकलदीप राजभर, विधायक धनंजय कन्नौजिया, भाजपा जिलाध्यक्ष जेपी साहू, सीडीओ प्रवीण वर्मा,  एडीएम रामआसरे सहित अन्य अधिकारी थे। 

Post a Comment

0 Comments