To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : शिक्षक परिवार को देख रो पड़ी मृत शिक्षामित्र की बेटियां, पहले ही छिन चुका था पिता का साया


बलिया। पिता के बाद कोरोना संक्रमण काल में सिर से मां का साया उठ जाने का दर्द मंगलवार को एक बार फिर शिक्षामित्र उषा देवी की बेटियों की आंखों से छलक उठा। अपनों को सामने देख बेटियां रोने-बिलखने लगी। माहौल ऐसा बना कि वहां मौजूद हर शख्स की आंखों का कोर मिला हो गया।


गौरतलब हो कि कोरोना काल में जान गंवा चुके शिक्षा क्षेत्र चिलकहर के शिक्षक, शिक्षामित्र व रसोईयो के आश्रितों से मिलकर बेसिक शिक्षा परिवार चिलकहर सहयोग राशि भेंटकर संवेदना व्यक्त कर रहा है। इसी क्रम में बेसिक शिक्षा परिवार चिलकहर प्राथमिक विद्यालय बाबू का पूरा पर तैनात रही शिक्षामित्र उषा देवी के आलमपुर स्थित घर पहुंचा। वहां बिन मां-बाप की बेटियां अपनों को देख रो पड़ी। शिक्षकों ने उन्हें समझाकर 50 हजार की सहयोग राशि सौंपा। 


वहां से शिक्षक परिवार ने प्राथमिक विद्यालय बर्रेबोझ की दिवंगत रसोईया कांति देवी के पुत्र व प्राथमिक विद्यालय सिकरिया खुर्द की रसोईया गनेशिया देवी की पुत्री को घर जाकर 25-25 हजार की सहयोग राशि दी।शिक्षक संघ के अध्यक्ष राधेश्याम सिंह, मंत्री सुरेश आज़ाद, बलवंत सिंह, संजय सिंह, पवन सिंह, अभिषेक सिंह, दीनबन्धु सिंह, सत्यजीत सिंह, सतीश सिंह, धनंजय सिंह, परशुराम यादव, भीम सिंह, अखण्ड यादव, मंजित सिंह, आशुतोष सिंह, राणा प्रताप सिंह, आरिफ, शहाबुदीन, राजू कुमार, अनिल कुमार राम, नन्दलाल राम, माणिक चंद, दिग्विजय सिंह आदि उपस्थित रहे। इस कार्य में अनिल सिंह सेंगर ने अहम भूमिका निभाई।

Post a Comment

0 Comments