बलिया : PHC मुरलीछपरा को डाक्टर की दरकार


बैरिया, बलिया। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरली छपरा चिकित्सक विहीन हो गया है। यहां के प्रभारी डॉ. देव नीति सिंह कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से होम आइसोलेशन में है। अस्पताल पर तैनात डॉक्टर एसके पांडे भी होम आइसोलेशन में चल रहे हैं। मात्र एक डॉक्टर सुमन मिश्रा के भरोसे अस्पताल संचालित था, जिन्हें स्वास्थ्य विभाग ने बसंतपुर एल 1 से अटैच कर दिया है। ऐसे में यह समझ में नहीं आ रहा है कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरली छपरा के लगभग 250 होम आइसोलेशन में चल रहे कोरोना पीड़ितों की देखभाल कौन करेगा ? 
मुरली छपरा के स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि डॉ सुमन मिश्रा दिन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरली छपरा पर रहते थे। करोना पॉजिटिव रोगियों की देखभाल करते थे। उन्हें समुचित इलाज के लिए गाइड करते थे। रात में उनकी ड्यूटी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सोनबरसा पर इमरजेंसी नाइट शिफ्ट में होती थी। उन्हें बसंतपुर एल 1 से अटैच कर दिये जाने से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरली छपरा चिकित्सक विहीन हो गया है। यही नहीं, सोनबरसा में भी रात्रि कालीन इमरजेंसी ड्यूटी भी संकट में है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग के इस फैसले से क्षेत्र के लोगों में आक्रोश है। अस्पताल पर तैनात चिकित्सा कर्मियों से पूछने पर बताया कि अब यहां कोई चिकित्सक नहीं है। अस्पताल की देखभाल व अस्पताल का काम धाम कैसे होगा, यह समझ से बाहर है। क्षेत्रीय लोगों ने डॉ सुमन मिश्रा को जनहित में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुरली छपरा पर तैनात करने की मांग की है।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments