बलिया : रेल पुल निर्माण की गति काफी धीमी, दोहरीकरण में हो सकता है विलम्ब


बैरिया, बलिया। पूर्वोत्तर रेलवे के बलिया छपरा रेलखंड पर बकुल्हा मांझी रेलवे स्टेशनों के बीच निर्माणाधीन नए रेल पुल का निर्माण कार्य काफी धीमी गति से होने के कारण दोहरीकरण में काफी बिलंब हो सकता है। रेलवे ने इस मार्ग के दोहरीकरण का कार्य पूरा करने का लक्ष्य दिसंबर 2020 निर्धारित किया था, किन्तु मार्च 2021 तक भी कार्य पूरा नही हो पाया है। मात्र साठ फिसदी कार्य हो पाया है। 
नए निर्माणाधीन रेल पुल के बगल में अंग्रेजो के जमाने का 132 वर्ष पुराना रेलपुल है, जिस पर पहले छोटी लाइन की रेल गाडियां चलती थी। उसी रेल पुल पर अब राजधानी जैसी सुपरफास्ट रेल गाड़ियां दौड़ रही हैं। रेलवे का यह निर्णय यात्रियों के लिए जोखिम भरा हो सकता है। बावजूद नए रेल पुल का निर्माण कार्य समय से पूरा कराने के प्रति संबंधित विभाग के अधिकारी गंभीर नहीं है। इस संबंध में बलिया-छपरा के रेलवे के अधिकारी चाहे स्टेशन अधीक्षक हो या यातायात अधीक्षक हो कोई कुछ नहीं बता पा रहा है। 

जल्द पूरा होगा काम : सांसद

बैरिया। सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने बताया कि रेलवे बोर्ड के बड़े अधिकारियों से वार्ता हुई है। जल्द ही रेल पुल का निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। नदी को लेकर कुछ दिक्कतें आ रहीं थीं, लेकिन अब उसका भी निस्तारण हो चुका है। सबकुछ ठीक रहा तो इसी साल यह पुल तैयार हो जाएगा।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments