बलिया के सूर्यभान ने उठाया बड़ा सवाल 'जब लोक ही सुरक्षित नहीं तो...'

बैरिया, बलिया। जब लोक ही सुरक्षित नहीं तो तन्त्र कैसे काम करेगा? इस सवाल का जबाब कोरोना काल में शायद किसी के पास नहीं है। बावजूद इसके त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को कराना कोरोना के संक्रमण को फैलाने जैसा है। इस मुद्दे को लेकर बैरिया विधान सभा के प्रखर समाजसेवी सूर्यभान सिंह ने चुनाव आयुक्त राज्य निर्वाचन आयोग उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ को पत्र लिखकर सवाल उठाया है कि कड़े इंतजाम में रहते हुए जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना के शिकार हो सकते हैं तो आम जनता का क्या हाल होगा। इसका उदाहरण देते हुए उन्होंने राज्य निर्वाचन आयोग से कोरोना काल के बीच त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को स्थगित करने की मांग की है।
श्री सिंह ने पत्र मे उल्लेख किया है कि उच्च न्यायालय के पीआईएल संख्या 574 में उच्च न्यायालय द्वारा उस जनहित याचिका में पंचायत चुनाव संबंधित फैसले पर सरकार को विचार करने का आदेश दिया है। बावजूद इसके पंचायत चुनाव को स्थगित नहीं किया गया है। प्रदेश में एक तरफ कोराना का भयंकर प्रकोप चल रहा है। रोजाना आम जनमानस कोरोना का शिकार होकर मृत्यु के तरफ अग्रसर है। ऐसे में चुनाव को संपादित कराना ठीक नहीं है। कोई भी चुनाव जनहित से बढ़कर नहीं है। जब तक जनता सुरक्षित नहीं रहेगी, तब तक सरकार का कोई भी कार्यक्रम उचित नहीं है। सरकार कोरोना को लेकर एक तरफ चिंतित है। वहीं चुनाव आयोग चुनाव कराने पर अमादा है। ऐसे में बड़े-बड़े नेता जब कोरोना का शिकार हो रहे हैं तो आम जनता को कैसे सुरक्षा कोराना से मिलेगी, यह एक अहम बात है। ऐसे में चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है कि जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए जनहित में कोरोना काल तक त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को स्थगित करें। उन्होंने पत्र की प्रतिलिपि सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ, पंचायती मंत्री पंचायती राज विभाग, अपर मुख्य सचिव पंचायती राज को भेजकर कोरोना काल तक चुनाव स्थगित करने की मांग की है।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments