बलिया की पांच खबरें : चौकी इंचार्ज से मारपीट, बीडीसी प्रत्यासी का निधन और...

बलिया। गड़वार थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत चक चमइनिया में मतदान के दौरान हुए विवाद में रतसर पुलिस चौकी प्रभारी के साथ भी मारपीट की गई। इसमें वे घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया। बूथ संख्या 67 प्राथमिक विद्यालय चकचमइनिया पर सोमवार को सुबह से शांतिपूर्वक मतदान हो रहा था। क्षेत्र में भ्रमण के दौरान चौकी प्रभारी दशरथ उपाध्याय हमराहियों के साथ बूथ पर पहुंचे। वहां एकत्रित भीड़ को हटाने का प्रयास करने लगे। इसी बीच भीड़ से ही कुछ लोग आए और चौकी इंचार्ज से उलझ गए। 

मतदान के बाद वृद्ध ने तोड़ा दम

विकास खंड गड़वार के अमडरिया में मतदान के बाद बूथ से बाहर निकलते ही दलित बस्ती निवासी रामसुमेर राम (90) ने दम तोड़ दिया। वह परिवार संग पोलिंग बूथ पर वोट देने आए थे। वोट देकर बाहर निकलते ही उनकी तबीयत खराब होने लगी। उन्हें चिकित्सक के यहां ले जाने की तैयारी में सभी जुट गए। इसी बीच उन्होंने दम तोड़ दिया। 

बीडीसी प्रत्याशी की मौत

विकासखंड नवानगर के चकप्रेमा उर्फ भटवाचक ग्राम सभा के वार्ड नंबर 6 की बीडीसी प्रत्याशी पार्वती देवी (55) पत्नी हीराराम (निवासी चांदपुर) का निधन सोमवार की सुबह हृदय गति रुकने से हो गया। 

बुजुर्ग, दिव्यांग के साथ युवाओं में दिखा उत्साह 

पंचायत चुनाव में बूथों पर बुजुर्गों व दिव्यांगों का हौसला देखकर हर किसी का उत्साह बढ़ गया। बुर्जुग मतदाताओं का कहना था कि मतदान अधिकार के साथ जिम्मेदारी है। हर व्यक्ति को अपने मताधिकार का प्रयोग करना चाहिए। वहीं, युवाओं में गजब का उत्साह देखा गया। युवा सुबह से ही बूथों पर निकलकर अपने मत का प्रयोग किए। पहली बार मत देने के बाद वे काफी उत्साहित थे। 

डीएम बढ़ातीं रहीं मतदान व सुरक्षा कर्मियों का हौसला

अपने भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी अदिति सिंह मतदान की स्थिति का जायजा लेने के साथ मतदान कर्मियों व सुरक्षा में लगे जवानों का हौसला बढ़ाती रहीं। सबसे हालचाल लेती रहीं, जिससे मतदान कर्मी व सुरक्षाकर्मी भी काफी उत्साहित दिखे। जिलाधिकारी बूथों पर सबसे यह भी अपील करती रहीं कि शारीरिक दूरी बनाकर ही मतदान प्रक्रिया में भाग लें। मताधिकार का प्रयोग करने के साथ खुद को सुरक्षित रखना भी जरूरी है।

व्हाट्अप के जरिए बनाए रखी पूरे जिले पर नजर, देतीं रहीं निर्देश

पंचायत चुनाव को सकुशल सम्पन्न कराने में जिलाधिकारी अदिति सिंह की तत्परता की अहम भूमिका रहीं। मतदान केंद्रों पर स्वयं भ्रमण तो कीं ही, मोबाइल के जरिए उन्होंने पूरे जिले की व्यवस्था पर नजर बनाए रखीं। जहां भी छिटपुट बवाल आदि की सूचना मिली, तत्काल उस क्षेत्र में लगाए गए पुलिस अधिकारियों को निर्देशित कर भेजतीं रहीं। इसके अलावा मतदान से सम्बन्धित किसी बूथ पर थोड़ी बहुत दिक्कत की सूचना मिलने पर तत्काल सेक्टर व जोनल को व्हाट्अप व फोन के माध्यम से भेजकर ठीक कराती रहीं। इस प्रकार पूरे दिन जिलाधिकारी तत्पर रहीं, जिसका नतीजा रहा कि लाख चुनौती के बावजूद पंचायत निर्वाचन सकुशल सम्पन्न हो गया।

Post a Comment

0 Comments