बलिया : मतगणना स्थल बदलने से बढ़ी नाराजगी

 


बैरिया, बलिया। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में बैरिया ब्लाक का मतगणना स्थल पीजी कालेज दुबेछपरा को निर्धारित किए जाने को लेकर क्षेत्र में विरोध के स्वर फूटने लगे हैं। आरोप लगाया जा रहा है कि धांधली करने के लिए साजिश वश यहां मतगणना कराने की योजना है, ताकि खुल्लम खुल्ला रिजल्ट बनवाया जा सके।
अधिवक्ता अशोक वर्मा का कहना है कि पूर्व में पंचायत चुनाव की मतगणना बैरिया इण्टर कालेज पर होती रही है। बैरिया इण्टर कालेज के आसपास छाया, पेयजल, जरूरत के सामान की दुकानें, स्वास्थ्य सेवा, थाना, चौकी सब है। यह सब सुविधाएं दुबे छपरा में नहीं है। वहीं अधिवक्ता चन्द्रशेखर यादव का कहना है कि दुबे छपरा बहुत दूर है। बहुत से गांवों से 12 से 15 किमी दूर है। वहां व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। छाया पेयजल की व्यवस्था नहीं है। माना कि मतगणना स्थल के 100 मीटर के परिजन चप्पे-चप्पे पर प्रशासन की व्यवस्था की जा सकती है। लेकिन वहां से जीत या हार कर वापस लौटते समय मारपीट व अन्य अप्रत्याशित घटनाओं की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। हर सुविधा से दूर होने की वजह से वहां रास्ते में आते जाते समय विवाद होना और किसी भी तरह की धांधली के दृष्टिगत विरोध कर पाना कठिन होगा। अधिवक्ता ने इंटर कॉलेज बैरिया में मतगणना की व्यवस्था कराने की मांग की है।
करमानपुर निवासी अजय सिंह का कहना है कि यूपी बोर्ड परीक्षा का बहाना बनाकर पीजी कॉलेज दुबे छपरा को मतगणना केंद्र बनाने की कवायद चल रही है, जबकि यूपी बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई है। जब परीक्षा स्थगित है तो ऐसे में दुबेछपरा में मतगणना केंद्र बनाना साजिश है। इस संदर्भ में उप जिलाधिकारी बैरिया प्रशांत कुमार नायक से जब पूछा गया तो उनका कहना था कि पंचायत चुनाव का प्रचार हो अथवा मतदान या फिर मतगणना कहीं किसी भी तरह की गड़बड़ी नहीं होने दी जाएगी। इसके लिए प्रशासनिक तैयारी कर ली गई है। बोर्ड परीक्षा के दृष्टिगत ही पीजी कॉलेज दुबे छपरा को मतगणना स्थल चयनित किया गया है। पेयजल, प्रकाश छाया व सुरक्षा की व्यापक व्यवस्था रहेगी। मेरे यहां अभी तक इस संदर्भ में कोई शिकायत नहीं आई है। अगर इस तरह की शिकायत आएगी तो जांच कराया जाएगा।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments