बलिया : हवा का वेग नहीं झेल सका पीपा पुल, टूटा 25 हजार का सम्पर्क


मझौवां, बलिया। बैरिया तहसील क्षेत्र अंतर्गत गंगा नदी के नौरंगा घाट पर बना पीपा पुल गुरुवार को हल्का पछुआ हवा का झोंका नहीं झेल सका। पीपा पुल टूटने से लगभग 25 हजार की आबादी का जिला, तहसील व ब्लाक मुख्यालय से सीधा सम्पर्क टूट गया है।
बैरिया ब्लाक की ग्राम पंचायत नौरंगा गंगा नदी के उस पार स्थित है। नौरंगा तथा उसके पुरवा भुवालछपरा, चक्की नौरंगा व उदईछपरा का जिला मुख्यालय से सम्पर्क के लिए गंगा नदी के नौरंगा घाट पर पीपापुल है, जो बाढ़ के दिनों में विभाग द्वारा खोल दिया जाता है। इस साल विभाग नेे काफी देर से पीपा पुल जैसे-तैसे बनाया। ग्रामीणों का कहना है कि पुल निर्माण में कही भी रस्सा नहीं लगाया गया था। कार्यदायी संस्था पुल निर्माण में मानक की अनदेखी कर अपनी कमाई के चक्कर में लगी रही। बिना रस्सा बल्ली के सहारे पुल को खड़ा कर दिया गया था। पूर्ण रूप से अभी चादर भी नहीं बिछी थी, तब तक गुरुवार को पछुआ हवा ने पुल के दक्षिणी नाका को झकझोर दिया। दक्षिणी नाका टूट कर पेंडुलम की तरह झूलने लगा। संयोग अच्छा था कि जिस समय पुल टूटा, उस समय पुल पर कोई यात्री नहीं था।

हरेराम यादव

Post a Comment

0 Comments