To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बिजलेंस के रडार पर बलिया का यह रेलवे स्टेशन, अफसरों ने ऐसे की छापेमारी


बैरिया, बलिया। सुरेमनपुर स्टेशन बिजलेंस टीम के रडार पर है। चार दिन बाद ही गोरखपुर से आई रेलवे की बिजलेंस टीम ने स्टेशन की बुकिंग खिड़की पर छापेमारी की। तत्काल टिकट के लिए लाइन में लगे लोगों का परिचय पत्र जांच की। आरक्षण लिपिक कार्यालय के पंजिका व अन्य कागजातों का बारीकी से जांच की, किन्तु कोई अनियमितता नही मिली।
शुक्रवार को निरीक्षक रमन सिंह, राजीव कुमार श्रीवास्तव व श्रवण कुमार यादव अपने सहयोगियों के साथ सुबह 10 बजे सड़क मार्ग से सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पहुंच गए। वहां राजीव श्रीवास्तव ने सिर पर पगड़ी बांध कर देहाती वेश वूशा बनाकर आरक्षण काउंटर पर पहुंचे और बलिया-सियालदह एक्सप्रेस में वातानुकूलित श्रेणी का तत्काल टिकट मांगा। ड्यूटी पर तैनात आरक्षण लिपिक राजीव कुमार दुबे ने तत्काल टिकट के लिए परिचय पत्र मांगा, और सियालदह में कहा जाना है व पता पर्ची में दर्ज किया। साथ ही पैसा लेकर तत्काल टिकट बना दिया। उसके बाद निरीक्षक राजीव श्रीवास्तव ने अपना परिचय देते हुए वह तत्काल टिकट रद्द करवाया। टिकट के लिए कतार में लगे यात्रियों का परिचय पत्रों की जांच की। जांच में सब कुछ सही मिला।शयनयान क्षेणी के दो ही तत्काल टिकट निकल पाये। उसके बाद कम्प्यूटर टिकट फूल बताने लगा। फिर टिकट लेने वालों का लिखित बयान बिजलेंस टीम ने लिया। पूछा कि कतार में लगने के लिए या तत्काल टिकट के लिए कितना पैसा आप लोगों से लिया गया है। तत्काल टिकट पाने वालों ने इस तरह की बातों को नकारते हुए बताया कि कोई पैसा नहीं लिया गया है। हम लोगो ने तड़के सुबह से ही लाइन लगाया था। काफी जांच पड़ताल के बाद आरक्षण काउंटर पर कोई अनियमितता नही मिली तो आरक्षण काउंटर के अंदर जाकर टिकट कैंसिलेशन पंजिका, काउंटर में रखे पैसे का मिलान किया। कही कुछ अनियमितता नही मिली तो तीन घण्टे बाद बिजलेंस टीम सड़क मार्ग से ही वापस लौट गई। रेलकर्मियों ने बताया कि पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक से सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर अनियमितता की शिकायत पिछले महीने की गई थी। इसे गम्भीरता से लेते हुए बिजलेंस टीम सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर छापेमारी कर रही है। पिछले रविवार को भी छापेमारी की गई थी, लेकिन उस दिन भी कुछ भी गलत नहीं मिल पाया।


शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments