To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : 'रिश्तों की अहमियत को ना भुलाइए, नारी का हो सम्मान यह जज्बा जगाइए'


बलिया। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर रविवार को संस्कार भारती के तत्वाधान में पं केपी मेमोरियल संगीत विद्यालय, रामपुर उदयभान में 'सनातन धर्म मे नारी की प्रधानता' विषयक गोष्ठी आयोजित हुई। बतौर मुख्य अतिथि लखनऊ से आए कवि महेश चंद गुप्ता ने 'रिश्तो की अहमियत को ना भुलाइए, नारी का हो सम्मान यह जज्बा जगाइए' से नारी सम्मान पर बल दिया। गोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए साहित्यकार भोला प्रसाद आग्नेय ने कहा कि आदिकाल से ही नारी की प्रधानता रही है। पहले अपना जीवनसाथी चुनने का अधिकार नारियों को ही था, पुरुषों को नहीं। पहले आयोजित होने वाले स्वयंबर इसका प्रमाण है। नारी में ब्रह्मा, विष्णु व महेश तीनों की शक्ति विद्यमान है।
 

विशिष्ट अतिथि अनिल श्रीवास्तव, कवि लाल साहब सत्यार्थी, रामप्रसाद सरगम, शिवजी पांडेय रसराज, वरिष्ठ पत्रकार अशोक पांडेय आदि ने नारी सुरक्षा व सम्मान पर आधारित रचनाएं सुनाई। इस अवसर पर रश्मि पाल, अदिति मिश्रा, पूजा मौर्य, विपुल ठाकुर, रिंकू प्रजापति, शिवम मिश्रा, निरंजन, राहुल, जितेंद्र, हिमांशु, विशाल आदि ने समाज में नारी के महत्व पर आधारित गीत सुनाए। तबले पर संगत आकाश मिश्र ने किया। सभी अतिथियों के प्रति पं राजकुमार मिश्र ने आभार जताया।

Post a Comment

0 Comments