बलिया : सेवानिवृत्ति हुए राज्य कर्मचारी महासंघ के महामंत्री, हुआ सम्मान



बलिया। राज्य कर्मचारी महासंघ के महामंत्री व डीआरडीए में कार्यरत अविनाश उपाध्याय के सेवानिवृत्त होने के बाद उनका सम्मान समारोह विकास भवन सभागार में हुआ। अधिकारियों-कर्मचारियों व अन्य कर्मचारी संगठनों के सभी प्रतिनिधियों ने माल्यार्पण कर सम्मान किया। वक्ताओं ने उपाध्याय की कार्यशैली पर चर्चा की और उनके सुखद भविष्य की कामना की।
डीडीओ ने कहा कि अविनाश जी के साथ काम करने का यह दूसरा मौका था। सभी कर्मचारियों को साथ लेकर चुनाव से लेकर बड़े से बड़े इवेंट्स को आसानी से करा देने की इनमें जो कला है, उसकी कमी जरूर खलेगी। परियोजना निदेशक डीएन दूबे ने कहा कि वैयक्तिक सहायक के रूप में इन्होंने हमेशा मेरे काम को हल्का रखा। दायित्व निर्वहन के प्रति हमेशा सजग रहे, जिसकी देन रही कि कभी किसी काम को लेकर मेरे ऊपर अतिरिक्त दबाव नहीं आया। अन्य वक्ताओं ने कहा कि कर्मचारियों के हित की रक्षा के लिए लड़ी जाने वाली हर लड़ाई में अविनाश उपाध्याय हमेशा अगली कतार में रहते थे, लिहाजा उनकी कमी हमेशा खलेगी। लेकिन उम्मीद है कि कर्मचारी हित में हमेशा मार्गदर्शक की भूमिका में जरूर रहेंगे। सम्मान समारोह में मौजूद सबके प्रति आभार जताते हुए अविनाश उपाध्याय ने कहा कि यह सम्मान आजीवन याद रहेगा। 

कर्मचारी संगठन के थे अगुवा

गौरतलब है कि कर्मचारी हित में आंदोलन की बात आती थी तो बलवंत सिंह के साथ अविनाश उपाध्याय हमेशा आगे रहते थे। बलवंत सिंह के निधन के बाद संगठन की अगुवाई इनके कंधे पर आ गयी थी। सम्मान समारोह में चिकित्सा महासंघ अध्यक्ष अवधेश सिंह, अरुण सिंह, अजय सिंह, अध्यापक उपेन्द्र सिंह, कौशल मिश्र, कलेक्ट्रेट संघ के अध्यक्ष अनिल गुप्त, सचिव रविशंकर यादव, मिथिलेश पांडेय, लेखाकार अजीत श्रीवास्तव, लेखपाल रामपूजन, सफाईकर्मी संघ के जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर यादव समेत सैकड़ों कर्मी मौजूद थे।

Post a Comment

0 Comments