To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


बलिया : मां तो प्यारी बिटिया को ठिकाने लगा दी थी, लेकिन...


बलिया। गुरुवार को जिला महिला चिकित्सालय पहुंचे न्याय पीठ बाल कल्याण समिति के सदस्य राजू सिंह ने न्यू सिक बोर्न केयर यूनिट में भर्ती नवजात बालिका के स्वास्थ्य सम्बंधित जानकारी ली। यह नवजात बालिका 26 फरवरी की रात परसिया रसड़ा मोड़ के पास लावारिश हालत मेें मिली थी। ऐसा लग रहा था कि धरा पर कदम रखते ही नवजात बालिका को जन्म लेने के बाद ही निर्दयी मां ने उसे ठुकरा दिया था। शायद अपनी औलाद को सीने से लगाने में उसे लोक लाज का भय सताने लगा और वह अपने कलेजे के टुकड़े को मौत के मुंह में धकेल दी। परासिया  मिशननरी  हॉस्पिटल ने प्राथमिक उपचार के बाद नवजात को चाइल्ड लाइन बलिया के हवाले कर दिया।
नवजात बालिका के नाजुक स्थिति को देखते हुए न्याय पीठ बलिया के निर्देश पर चाइल्डलाइन ने न्यू केयर यूनिट में भर्ती कराया। राजू सिंह ने बताया कि नवजात की हालत पहले से बेहतर है। नवजात को स्वस्थ्य दशा में शिशुगृह में प्रवेश कराया जाएगा फिर नवजात का फोटो दैनिक समाचार पत्र में प्रकाशित कराने के 2 माह के भीतर जैविक माता-पिता अपना दावा सबुत  के साथ न्याय पीठ के समक्ष प्रस्तुत नहीं करते हैं तो बालिका को दत्तक ग्रहण गोद लेने के लिए स्वतंत्र घोषित करने की कार्यवाही न्याय पीठ बाल कल्याण समिति द्वारा कर दी जाएगी।

Post a Comment

0 Comments