To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : नींद खुली तो आग की लपटों बीच घिर चुके थे बब्बन, फिर...

 


दुबहर, बलिया। दुबहर थाना क्षेत्र के चकिया के बारी (जनाड़ी) गांव में मंगलवार की दोपहर अचानक लगी आग से आधा दर्जन रिहायशी झोपड़ियां व उसमें रखा लाखों रुपए का सामान राख हो गया। वही, एक व्यक्ति झुलस गया। 

चकिया के बारी में मंगलवार की दोपहर लगभग एक बजे बब्बन यादव की झोपड़ी से अचानक आग की लपटें उठने लगी। बब्बन यादव उस समय अपनी झोपड़ी में सोए हुए थे। आग की आंच से उनकी नींद खुली तो वह आग में बुरी तरह से घिर चुके थे। बाहर निकलने के प्रयास में वह झुलस गए। स्थानीय लोगों ने उपचार के लिए उन्हें जिला चिकित्सालय पहुंचाया, जहां इलाज चल रहा है। वही आग की लपटों में बब्बन यादव, विजय यादव, लाल मैनेजर यादव, रामेश्वर यादव, गिरजा देवी, अजय यादव, पिंटू यादव, धनजी यादव, वासुदेव यादव, अजीत यादव की रिहायशी झोपड़ी जलकर व मोटरसाइकिल समेत आधा दर्जन साइकिल, गहना, कपड़ा, गेहूं मसूर, आलू, चारा मशीन, थ्रेसर सहित दैनिक उपयोग की वस्तुएं राख हो गई। किसी तरह ग्रामीणों ने अथक प्रयास से आग पर काबू पाया, लेकिन इन लोगों की झोपड़ी में रखा सारा सामान जलकर राख हो गया। सूचना पर पहुंची फायर बिग्रेड की गाड़ी ने भी आग बुझाने में मदद की। क्षेत्रीय लोगों ने आग में झुलसे बब्बन यादव के परिजनों को ढांढस बताते हुए उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की। इस मौके पर पूर्व जिला पंचायत सदस्य अरुण सिंह, गोविंद पाठक, विनोद पासवान, राजकुमार यादव, जनार्दन गिरी आदि लोगों ने पीड़ित परिवार को जिला प्रशासन से मदद करने की अपील की।

पिंकू सिंह

Post a Comment

0 Comments