To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : पकड़ी गई थी अवैध हथियारों की तिजारत, फिर...


बैरिया, बलिया। करीब एक सप्ताह पहले पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा के निर्देशन में गंगा उस पार नौरंगा से फिल्मी स्टाइल में बरामद किए गए घातक हथियारों के साथ गिरफ्तार दो लोगों को न्यायालय से रिमांड पर लेने के बाद बैरिया पुलिस व क्राइम ब्रांच संभावित स्थानों पर छापामारी में जुटा है। यूपी पुलिस को बिहार पुलिस का भी साथ मिल रहा है। इसी क्रम में गुरुवार की देर शाम नौरंगा गांव के निकट कटिया बाबा मंदिर से कुछ दूर गेहूं के खेत से बैरिया पुलिस ने एक कट्टा व 315 बोर का चार जिंदा कारतूस बरामद किया। एसएचओ बैरिया राजीव कुमार मिश्र ने बताया कि गिरफ्तार अमरेंद्र ठाकुर व राजू शर्मा की निशानदेही पर बिहार के कई क्षेत्रों में बिहार पुलिस के सहयोग से छापेमारी की गई, किंतु सफलता हाथ नहीं लग पाई। हालांकि उम्मीद है कि इस प्रकरण में जल्दी उल्लेखनीय सफलता प्राप्त होगी।

गौरतलब है कि दो दशक से नौरंगा में घातक हथियारों का अवैध तिजारत जारी था, जिसको रोकने के लिए पुलिस प्रशासन गंभीर नहीं था। किंतु नवागत पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन टांडा ने इस प्रकरण को गंभीरता से लेते हुए कठोरतम कार्रवाई का निर्णय लिया, लिहाजा बीते रविवार को भारी मात्रा में हथियार और कारतूस नौरंगा से बरामद हुआ था। दो लोग गिरफ्तार है। इस धन्धे में लिप्त शेष की तलाश जारी है। पुलिस की कार्रवाई पर लेकर लोग तरह-तरह की चर्चा कर रहे हैं। कोई कह रहा है कि सुरेंद्र ठाकुर उर्फ चुहिया द्वारा प्रधानी के चुनाव लड़ने की घोषणा के कारण ग्रामीणों ने पूरी जानकारी पुलिस फोर्स को दे दी। वही कुछ ग्रामीणों का कहना है कि बिहार के विशेश्वर ओझा हत्याकांड के बाद विशेश्वर ओझा के परिजनों द्वारा लगातार सुरेंद्र उर्फ चुहिया के गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। उन्हीं के प्रयास से बिहार पुलिस और उत्तर प्रदेश पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई की है। चाहे कार्रवाई जैसे भी हो, फिलहाल नौरंगा में अवैध हथियारों की तिजारत पर पूरी तरह से प्रतिबंध लग गया है।ग्रामीणों ने नौरंगा में तत्काल पुलिस चौकी की स्थापना की मांग की है।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments