राजनीतिक पुरोधा व प्रखर वक्ता थे गंगा प्रसाद सिंह : विश्व विजय


बलिया। स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व पूर्व विधायक बाबू गंगा प्रसाद सिंह की 53वीं पुण्यतिथि वृहस्पतिवार को कांग्रेस कार्यालय पर मनायी गयी। उपस्थित लोगों ने उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। साथ ही गोष्ठी के जरिये उनके व्यक्तित्व व कृतित्व को याद किया।


मुख्य अतिथि कांग्रेस के उत्तर प्रदेश महासचिव विश्व विजय सिंह ने कहा कि पूर्व विधायक एक कुशल राजनीतिक पुरोधा व प्रखर वक्ता थे। जिला पूर्ति अधिकारी के पद पर रहते हुए पूर्व मुख्यमंत्री स्व. सीबी गुप्ता के सम्पर्क में आने पर नौकरी से त्यागपत्र देकर रसड़ा के प्रथम विधायक बने। जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश पांडेय ने कहा कि स्व. सिंह रसड़ा विधानसभा से 1952 से 1962 तक लगातार दो बार विधायक रहे। इसके बाद 1962 से 1967 तक सीयर से विधायक रहे। चौथी बार चुनाव हारने के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री सीबी गुप्ता ने एमएलसी बनाने को आमंत्रित किया, लेकिन उन्होंने यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया कि जनता ने उन्हें विधानसभा में नहीं भेजा है, जनता का यह आशीर्वाद मुझे स्वीकार है। जब तक जनता द्वारा मुझे विधानसभा नहीं भेजा जाता, मैं दूसरे दरवाजे से विधानसभा में प्रवेश नही कर सकता। कहा कि इतना त्याग शायद ही किसी राजनेता में देखने को मिलता है। श्रद्धासुमन अर्पित करने वालो में शमशाद अहमद, शिवप्रताप ओझा, जैनेंद्र पांडेय मिंटू, रमाशंकर तिवारी, मुन्ना उपाध्याय, सरिता श्रीवास्तव, राजेंद्र चौधरी, फुलबदन तिवारी, गिरिशकान्त गांधी, आनंद सिंह, रामधनी सिंह, सविता निषाद, विवेक ओझा, विपिन पांडेय, अनुभव तिवारी गोलू, धन जी यादव, रिंशु पांडेय, अब्बुल फैज, बंटी मिश्रा, आलोक भारती आदि लोग उपस्थित रहे। संचालन सूर्यकांत यादव व सबके प्रति आभार आयोजक स्व. सिंह के पौत्र सागर सिंह राहुल ने किया।

Post a Comment

0 Comments