To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


बलिया : बर्थ-डे ब्याय समेत तीन युवकों की मौत मामले में सरकार ने तलब की रिपोर्ट


बैरिया, बलिया। बर्थ-डे ब्याय समेत तीन युवा दोस्तों की मौत मामले में बिजली विभाग के जिम्मेदार अफसरों पर गाज गिर सकती है। दिल दहला देने वाली घटना का स्वतः संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक को आदेशित किया है कि मामले में जांचोपरांत शीघ्र कार्रवाई कर अवगत कराएं।
गौरतलब हो कि बैरिया थाना क्षेत्र के शोभा छपरा में हाईटेंशन तार टूटकर गिरने से दलजीत टोला निवासी तीन युवकों की मौत हो गयी थी। पीड़ित परिवार व गांव के लोगों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को शिकायती पत्र भेजा था। पत्र का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री कार्यालय ने उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक को पत्र भेजा है। भेजे गए पत्र में उल्लेख किया गया था कि बलिया के बैरिया विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत बिजली के जर्जर तार एवं एंगल अति शीघ्र बदलने व जिले के विद्युत विभाग के उच्च अधिकारियों की लापरवाही के कारण जर्जर तार की वजह से हुए तीन युवकों की मौत के विरुद्ध थाना बैरिया में 304 ए का मुकदमा पंजीकृत है। अभियुक्तों के विरुद्ध गिरफ्तारी व सख्त कार्रवाई हो। समाजसेवी सूर्यभान सिंह व उनकी पत्नी प्रधान रूबी सिंह के द्वारा जर्जर पोल एवं तारों को ठीक करने के लिए कई बार पत्र मुख्यमन्त्री को भेजा गया था। लेकिन विद्युत विभाग के अधिकारियों ने गलत रिपोर्ट भेजकर मुख्यमंत्री कार्यालय को गुमराह कर दिया। इससे जर्जर तार लटकने के कारण पिछले दिनों शोभा छपरा में तीन युवकों की मौत हो गई।

वहीं, 2009 में प्रतिमा विसर्जन के दौरान भी लटकते तार के कारण दो युवको की मौत हो गयी थी। आधा दर्जन युवक झुलस कर घायल हो गये। ग्राम पंचायत कोड़रहा नौबरार में दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति योजना के अंतर्गत विद्युतीकरण का कार्य किया गया, लेकिन यह कार्य आधे अधूरे छोड़कर ठेकेदार भाग गया। इस पर भी शिकायत के बाद विद्युत विभाग के अधिकारियों ने संज्ञान नहीं लिया और  मुख्यमंत्री कार्यालय को गलत सूचना भेज दिया। शिकायती पत्र भेजने वालों में लवकुश सिंह, चंदन सिंह, बादशाह यादव, अरुण सिंह ने मांग किया है कि मृतक तीन युवकों के आरोपी बिजली विभाग के चारों अधिकारियों की शीघ्र गिरफ्तारी हो। मामले की जांच कराकर जिले के विद्युत अधिकारियों पर कठोर कार्रवाई हो। 

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments