To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


ads booking by purvanchal24@gmail.com

बलिया : 'प्रेरणा ज्ञानोत्सव' में सरकारी धन का गोलमाल ! होगी जांच


बलिया। मिशन प्रेरणा के तहत बुधवार को जिले के सभी क्षेत्रों में 'प्रेरणा ज्ञानोत्सव' का आयोजन किया गया। इसके लिए शासन स्तर से भारी भरकम धनराशि आवंटित थी, लेकिन अधिकतर शिक्षा क्षेत्रों में 'प्रेरणा ज्ञानोत्सव' जैसे महत्वपूर्ण महोत्सव की महज खानापूर्ति की गई। कुछ शिक्षा क्षेत्रों में तो सम्मानित करने के लिए कार्यक्रम में बच्चों को भी आमंत्रित किया गया था, लेकिन सुबह 10 बजे से अपरान्ह 2 बजे तक उन्हें जलपान तक नहीं कराया गया। 

बता दें कि बलिया में 18 शिक्षा क्षेत्र (बलिया नगर, हनुमानगंज, दुबहर, बेलहरी, बैरिया, मुरलीछपरा, रेवती, सीयर, बांसडीह, बेरुआरबारी, मनियर, पंदह, नवानगर, गड़वार, रसड़ा, नगरा, सोहांव व चिलकहर) है। शासन ने सभी शिक्षा क्षेत्र में ज्ञानोत्सव कार्यक्रम आयोजित करने का निर्देश दिया है। इसमें प्रत्येक प्रतिभागी के नाम पर रिफ्रेशमेंट के लिए 150 रुपये कुल 250 प्रतिभागियों के लिए 37500 रुपये तथा टेंट माइक इत्यादि के लिये 15000 रुपये की धनराशि आवंटित की थी। ज्ञानोत्सव में शिक्षा क्षेत्र के प्रधानाध्यापक, सहायक अध्यापक व कुछ बच्चों को भी शामिल होना था। लेकिन कहीं कहीं सिर्फ प्रधानाध्यापकों को ही बुलाया गया था।जनप्रतिनिधियों के अलावा तहसील व ब्लाक स्तरीय अधिकारियों को भी आमंत्रित किया जाना था। इसके लिए टाइम-टू-टाइम कार्यक्रम निर्धारित था, लेकिन अधिकतर शिक्षा क्षेत्रों में कार्यक्रम की महज खानापूर्ति की गई। शायद ही किसी शिक्षा क्षेत्र में 250 शिक्षक व बच्चे शामिल हुए हो। बावजूद इसके रिफ्रेशमेंट के नाम पर बड़ा 'खेल' खेला गया। कही समोसा-मिठाई पर काम चला तो कही लंच पैकेट नाम पर खानापूर्ति की गई। कहीं-कहीं टेंट में कार्यक्रम आयोजित करने की मंशा भी बंद कमरे/हाल में सिमट गई। 

ये है 'प्रेरणा ज्ञानोत्सव' का मिशन

विद्यालयों में प्रेरणा ज्ञानोत्सव के अन्तर्गत 100 दिन का विशेष अभियान संचालित किये जाने हेतु निर्देश प्रदान किये गये हैं। यह अभियान विद्यालय खुलने के प्रथम दिवस से प्रारम्भ किया जायेगा तथा 100 दिनों तक निरंतर चलेगा। इस अभियान में एसएमसी को सक्रिय बनाना, अभिभावकों के साथ मिशन प्रेरणा के लक्ष्य साझा किया जाना, शिक्षकों को प्रेरित एवं प्रोत्साहित करना, सामुदायिक सहभागिता सुनिश्चित करना, कोविड के सम्बंध में जिज्ञासाओं का समाधान करना एवं कोविड प्रोटोकाल के अनुपालन के सम्बन्ध में जागरूक करना, मिशन प्रेरणा एवं आपरेशन कायाकल्प से लोगों को जोड़ना। मिशन प्रेरणा के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए इसे अभियान की तरह कार्य किया जाएगा। प्रेरणा ज्ञानोत्सव के सफल क्रियान्वयन के लिए डायट प्राचार्य की अध्यक्षता में SRG, ARP एवं डायट मेंटर्स की बैठकें होगी। 

'प्रेरणा ज्ञानोत्सव' के सफल आयोजन को प्रत्येक शिक्षा क्षेत्रों में 250 प्रतिभागियों के रिफ्रेशमेंट के लिए 150 रुपये के हिसाब से 37500 रुपये व टेंट-माइक इत्यादि के लिए 15000 रुपये भेजा गया है। 'प्रेरणा ज्ञानोत्सव' के लिए शासन द्वारा गाइडलाइन जारी की गई थी। बावजूद इसके यदि कहीं गड़बड़ी व मानक की अनदेखी की गई है तो जांच कराकर सम्बंधित के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित की जायेगी। 
नुरुल हुदा, डीसी (प्रशिक्षण)

Post a Comment

0 Comments