बलिया की बेटी अमृता सिंह बनी राजपत्रित अधिकारी, चहुंओर खुशी


बैरिया, बलिया। कर्णछपरा निवासी केदारनाथ सिंह व श्रीमती चिन्ता सिंह की पुत्री अमृता सिंह की नियुक्ति लोक सेवा आयोग उप्र प्रयागराज के ग्रामीण अभियंत्रण विभाग में सहायक अभियंता (सिविल) के पद पर हुई है।राजपत्रित अधिकारी के पद पर बेटी के चयन से न सिर्फ घर-परिवार, बल्कि पूरे इलाके में खुशी की लहर है। 
श्री नरहरि बाबा इंटर कालेज कर्णछपरा से 10वीं में स्कूल में टॉपर रही अमृता सिंह हैप्पी होम इंग्लिश स्कूल खजुरी वाराणसी से इंटरमीडिएट की पढ़ाई पूरी की।इंटरमीडिएट में स्कूल की द्वितीय टॉपर रही अमृता ने बीटेक आईईटी लखनऊ से सिविल इंजीनियरिंग की शिक्षा 2019 में पूर्ण की। कालेज में तृतीय टॉपर रही अमृता इंजीनिरिंग सर्विसेज की तैयारी के लिए नई दिल्ली चली गई। सहायक अभियंता के पद पर चयनित अमृता ने अपनी सफलता का श्रेय परिवार के सभी सदस्यों को दिया।बोली, मां और पापा का तो हमेशा सहयोग रहा, लेकिन भाइयों एवं बहनों ने पढ़ाई में हमें जितना योगदान दिया, वह अनुकरणीय है।उन लोगों के बारे में कितनी भी तारीफ कर दूं, कम ही होगा। ऐसे भाई सभी बहनों को मिले। तैयारी करने वाले छात्र-छात्राओं के लिए अमृता सिंह ने संदेश दिया कि आप ईमानदारी से मेहनत करें, सफलता निश्चित मिलेगी। हां, लक्ष्य के अनुरूप मेहनत होनी चाहिए। 

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments