To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : ताजा हुई 6 जनवरी की 'वो' रात, पुलिस के खिलाफ अनशन पर महिला


दुबहड़, बलिया। दुबहड़ थाना प्रभारी के खिलाफ एक महिला अपने दरवाजे पर ही अनिश्चितकालीन आमरण अनशन प्रारंभ कर दिया है। थाना प्रभारी अनिल चंद तिवारी के  स्थानांतरण की मांग को लेकर अनशनरत शिवपुर दीयर नई बस्ती बेयासी निवासी रिंकी सिंह पत्नी कामाख्या नारायण सिंह बुधवार को जनाड़ी निवासी अमित राय के साथ आमरण अनशन पर बैठ गई। रिंकी सिंह ने कहा है कि यदि मेरी मांगें नहीं मानी गई तो जिलाधिकारी कार्यालय के सामने आत्मदाह करूंगी। 
रिंकी सिंह ने बताया कि शिवपुर दियर नई बस्ती चट्टी पर विश्वकर्मा पासवान की मौत 06 जनवरी 2021 को सड़क हादसे में हो गई थी। उन्होंने यह आरोप लगाया कि रात को 9:00 बजे नो एंट्री खुलती है तो दुबहड़ पुलिस ने 9:00 बजे के पहले ही नो एंट्री क्यों खोल दिया। यदि 9:00 बजे के पहले नो एंट्री नहीं खुली होती तो ट्रक एक्सीडेंट में युवक की मौत नहीं हुई होती। मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता आदि की मांग को लेकर गांव वासियों ने बेयासी चट्टी पर धरना प्रदर्शन किया, जिसे लेकर पुलिस और पब्लिक में पथराव हुआ। उसके बाद दुबहड़ पुलिस ने देर रात तक विभिन्न गांववासियों के घरों में घुसकर तोड़फोड़ कर तांडव मचाया था। यहां तक कि पुलिस ने महिलाओं को भी नहीं बख्शा था। उक्त प्रकरण में पुलिस द्वारा मेरे परिवार एवं गांव वासियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने एवं कार्रवाई होने के बाद भी  पुलिस द्वारा मुझे तथा मेरे परिवार वालों का उत्पीड़न किया जा रहा है। आमरण अनशन का समर्थन गांव एवं क्षेत्र के विभिन्न सामाजिक एवं छात्र नेताओं द्वारा किया जा रहा है। इस मौके पर राहुल मिश्रा, जय मिश्रा, लल्लू सिंह, राजन तिवारी, गोपाल तिवारी, उमेश सिंह, बबलू सिंह, धनजी यादव, भुवर यादव  हरेंद्र यादव, शिवा प्रसाद, अजय अंबेडकर, शिवकुमार रश्मि, गुड्डू यादव, मुन्ना यादव, प्रभु पासवान आदि उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments