बीएसए सस्पेंड, शासन को मिली थी यह शिकायत


लखनऊ। अंतरजनपदीय तबादले के बाद शिक्षकों को कार्यमुक्त करने के नाम पर अवैध वसूली की शिकायत मिलने पर यूपी सरकार ने गोण्डा बीएसए डा. इंद्रजीत प्रजापित को सस्पेंड कर दिया गया है। 
जनवरी में बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों का अंतरजनपदीय तबादला हुआ था। इसमें गोण्डा जनपद से 1025 शिक्षकों का तबादला हुआ, लेकिन कार्यमुक्त करने की अंतिम तिथि तक सिर्फ 400 शिक्षकों को ही बीएसए द्वारा कार्यमुक्त किया गया। इसी बीच, वजीरगंज बीआरसी पर शिक्षकों से वसूली का पर्चा वायरल हुआ। बीएसए कार्यालय पर रिलीविंग में अनियमितता की गई थी। अध्यापकों को कार्यमुक्त करने संबंधी पत्रावलियां जानबूझ कर समय पर तैयार नहीं की गईं। इस पर शिक्षकों ने हंगामा भी किया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए डीएम ने बीएसए की भूमिका संदिग्ध मानते हुए जांच कराई थी। साथ ही शासन को रिपोर्ट भेजी थी। इस पर शासन ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी डा. इंद्रजीत प्रजापति को सस्पेंड कर दिया। 

Post a Comment

0 Comments