To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

शासन की प्राथमिकताओं में एक है बलिया की यह बड़ी परियोजना : डीएम


बलिया। घाघरा नदी पर बन रहे खरीद-दरौली पक्का पुल परियोजना का निरीक्षण जिलाधिकारी ने मंगलवार को किया। उन्होंने कहा कि यह परियोजना शासन की प्राथमिकता में एक है, लिहाजा इस पर जो भी काम होना है उसमें तेजी बनी रहे। इंजीनियरों से कहा कि निर्माण में गुणवत्ता का भी विशेष ख्याल रहे।
जिलाधिकारी पहले अप्रोच मार्ग के निर्माण का स्थलीय निरीक्षण किया। कार्य से सम्बंधित विस्तृत जानकारी ठेकेदार से ली। सेतु निगम के अधिकारी ने बताया कि पहले 25 पिलर बनने थे, लेकिन रिवाइज़ इस्टीमेट में चार पिलर बढ़े हैं। इस प्रकार अब 29 पिलर बनने हैं। दिसम्बर 2022 तक पुल निर्माण तथा मार्च, 2022 तक अप्रोच मार्ग पूरा कर लेने की बात कही गई। जिलाधिकारी ने कहा कि उस हिसाब से काम भी तेजी से होना चाहिए। बिहार सरकार से जो सहयोग लेना है, उसके लिए वहां के प्रशासन को मेरी ओर से पत्र भिजवाया जाए। उद्देश्य यही है कि निर्माण से जुड़ी हर कार्यवाही जल्दी हो। सेतु निगम व लोक निर्माण विभाग के अधिकारी से कहा कि पुल व अप्रोच के बचाव से सम्बंधित जो भी संशोधित कार्ययोजना है, अपनी-अपनी रिपोर्ट के साथ बना कर दें। उसे शासन स्तर तक भेज जल्द ही कार्यवाही पूरी कराने का प्रयास होगा। अप्रोच मार्ग के सम्बंध में बताया गया कि बीच में थोड़ा-बहुत अतिक्रमण है। रजिस्ट्री की प्रक्रिया थोड़ी बची है। दोनों कार्य को शीघ्र करा लेने का निर्देश एसडीएम अभय सिंह को दिया। ठेकेदार से कहा को बरसात से पहले अप्रोच के बेस का कार्य जरूर हो जाए।

बिहार साइड से जाकर देखा निर्माण

डीएम-एसपी ने बिहार साइड से जाकर पुल के निर्माण को देखा, उधर का एरिया कटान के लिहाज से सुरक्षित बताया गया। जिलाधिकारी ने टेढ़े हुए पिलर के बारे में जानकारी ली। कहा, किसी की हाल में उसे ठीक कराएं। पुल की मजबूती से कोई समझौता नहीं होना चाहिए। एसपी डॉ विपिन ताडा, एसडीएम अभय सिंह, सेतु निगम व लोनिवि के अभियंता आदि साथ थे।

Post a Comment

0 Comments