To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

द्वाबा की इस मिट्टी में रमी है अद्भुत संतों की तप धुनी


बैरिया, बलिया। क्षेत्र के शिवपुर कपुर दियर सेमरिया में गंगा तट के पास अवस्थित वैष्णव संप्रदाय की अद्भुत अलौकिक शक्ति से परिपूर्ण मठिया है। जिसने सच्चे मन से दर्शन किया उनकी मनोकामना पूरी हुई। इस मठिया पर ब्रह्मलीन कल्याण दास जानकी दास और श्री श्री 1008 ब्रह्मलीन कमलनयन ब्रह्मचारी जैसे अद्भुत संत की तप की धुनी इस मिट्टी में रमी है। कमलनयन ब्रह्मचारी जी के दिवंगत होने के बाद श्री श्री 1008 राधाकृष्ण ब्रह्मचारी जी सन् 2015 से उनकी पुण्यतिथि पर भंडारे का आयोजन श्रद्धालुओं के सहयोग आयोजित कराते रहे हैं।
इस अवसर पर उन्होंने श्रद्धालुओं को बताया कि सन्त का संगत बगैर भगवान के कृपा के नही हो सकता। उन्होने सनातन धर्म की बारीकी को भी बताया। प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी उनके छठवें पुण्यतिथि तिथि पर चल रहे यज्ञ और संकीर्तन के समापन पर बुधवार को विशाल भंडारे का आयोजन हुआ। साथ ही इस वर्ष भगवान शालिग्राम के मंदिर का नवनिर्माण प्रारम्भ किया गया। जिसमें श्रद्धालुओं ने बढ़-चढ़ कर सहयोग किया। मठिया में गौशाला भी है, जहां गायों की सेवा स्वत: ब्रह्मचारी जी करते हैं। भंडारे में स्वयं सेवक अजीत तिवारी, दीनानाथ तिवारी, अक्षयवर मिश्र, कौशल तिवारी, भीम सिंह, शोभनाथ यादव, शशांक उपाध्याय, मृत्युन्जय उपाध्याय आदि ने भरपूर सहयोग किया।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments