वेतन भोगी कर्मचारियों को निराश कर गया यह वजट : धीरज


बलिया। यह बजट वेतन भोगी कर्मचारियों के लिए निराशाजनक है। इसमें निश्चित आय वाले विनियोक्ता वर्ग को कोई राहत नहीं दी गई है। वही परिसंपत्ति मुद्रीकरण कानून द्वारा पब्लिक सेक्टर की परिसंपत्तियों को अप्रत्यक्ष रूप से उद्योगपतियों के हवाले करने का मार्ग प्रशस्त हुआ है। इसका दूरगामी परिणाम आम जनमानस के जीवन स्तर पर पड़ेगा। वेतन भोगी कर्मचारियों को इस बजट से टैक्स स्लैब में लाभकारी परिवर्तन की उम्मीद थी, लेकिन इस बजट से उनको निराशा ही हाथ लगी है। समीक्षात्मक रूप से इस बजट को मध्यम वर्ग के लिए अलाभकारी व पूंजीपतियों को परोक्ष रूप से लाभ पहुंचाने वाला कहा जा सकता है।


धीरज राय, जिला महामंत्री विशिष्ट बीटीसी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन, बलिया 

Post a Comment

0 Comments