To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : दुधमुंहे बेटे को कमरे में बंद कर मां गायब, भगवान ने बचाई जान


बलिया। बंद कमरे में 2 दिन से बालक के रोने की आवाज सुनकर एक कॉलर ने चाइल्ड लाइन के टोल फ्री नंबर 1098 पर सूचना दी। बताया कि बालक की मां रविता देवी पत्नी मनु सोनार (निवासी : परिखरा तिखमपुर, बांंसडीह रोड) किराए की मकान में छोड़ कर कहीं चली गई है। सूचना पर बांसडीड थाने से हेड कांस्टेबल राममिलन व परितोषन चाइल्ड लाईन बलिया के समन्वयक युसूफ खान, टीम मेंबर गणेश कुमार व शारदा प्रवीण ने मौके पर पहुंचकर बालक को कमरे से निकालकर जिला चिकित्सालय पहुंचाया। इलाज के बाद स्वस्थ दशा में बालक को न्याय पीठ बाल कल्याण समिति के निर्देश पर अपने संरक्षण में माता पिता के न मिल जाने तक रखा हैं।

                             राजू सिंह

न्याय पीठ बाल कल्याण समिति के सदस्य राजू सिंह ने बताया कि पड़ोसी के कथनानुसार मां रविता देवी (केवरा, बांसडीह) की रहने वाली है। पिता मनु सोनार रिक्शा चलाते हैं। कभी कभार किराए के घर पर आता जाता था। चाइल्डलाइन ने शहर के रिक्शा वालों से मिल कर पता किया, लेकिन कोई पिता का पता नहीं बता रहा है। मां क्यों कलेजे के टुकड़े को छोड़कर कहीं चली गई, यह सोचने को मजबूर करता है। न्याय पीठ के सदस्य राजू सिंह ने बताया कि बालक के माता-पिता मिलने तक बालक को शिशु गृह में रखने का आदेश न्याय पीठ बाल कल्याण समिति चाइल्ड लाइन को देगी।

Post a Comment

0 Comments