बलिया : प्रशासन की 'पहल' को पीड़ितों ने नकारा, कर दिया यह ऐलान


बैरिया, बलिया। बैरिया तहसील की ग्राम पंचायत केहरपुर व गोपालपुर के कटान पीड़ितों को तहसील प्रशासन द्वारा गांव से लगभग 14 किलोमीटर दूर विस्थापित करने से पीड़ितों में आक्रोश है। इसको लेकर गुरुवार को दुबेछपरा स्थित हनुमान मंदिर प्रांगण में कटान पीड़ितों की बैठक इंटक जिलाध्यक्ष विनोद सिंह की अध्यक्षता में हुई। इसमें तहसील प्रशासन के खिलाफ कटान पीड़ितों ने प्रस्ताव पारित करते हुए 14 किलोमीटर दूर मुनि छपरा ग्राम पंचायत में बसने से इनकार कर दिया है। 
कटान पीड़ितों की मांग है कि उन्हें भूमि क्रय कर पट्टा आवंटित किया जाए और गांव के बगल में ही बसाया जाए। पूर्व में भी प्रशासन ने उन्हें जमीन खरीद कर बसाया था। बैठक में कटान पीड़ितों ने बताया कि पूर्व में बेलहरी, मझौवां, पचरुखियां, नारायणपुर, गंगापुर, केहरपुर तथा बहुआरा के कुल 435 कटान पीड़ितों को शासनादेश के अनुसार भूमि क्रय कर उन्हें बसाया गया है। उसी तरह हम लोगों को भी गांव के बगल में ही बसाया जाए, अन्यथा हमारी सामाजिकता प्रभावित हो जाएगी। अध्यक्षता कर रहे इंटक जिलाध्यक्ष विनोद सिंह ने बताया कि कटान पीड़ितों को बसाने के लिए पूर्व में भूमि क्रय कर बसाया गया था। इस बार तहसील प्रशासन मनमानी कर रहा है, जो चलने वाली नहीं है। अगर कटान पीड़ितों को भूमि क्रय कर शासनादेश के अनुसार नहीं बसाया गया तो कटान पीड़ित सड़क पर आ सकते हैं।बैठक में कुंज बिहारी गोड़, लोकनाथ पासवान, तारकेश्वर गोड़, जितेंद्र कमकर, मनीष राम, तिजिया देवी, कलावती देवी, गुड़िया देवी, राहुल सिंह के अलावा दर्जनों कटान पीड़ित बैठक में भाग लिए। संचालन रजनीकांत तिवारी ने किया।

अफसर पर आरोप
इंटक के जिलाध्यक्ष विनोद सिंह ने उपजिलाधिकारी बैरिया पर आरोप लगाया है। कहा कि उपजिलाधिकारी की मानसिकता कटान पीड़ितों की विरोधी है। यदि ऐसा नहीं होता तो वे शासनादेश की अनदेखी नहीं करते। शासनादेश की अनदेखी नहीं होने दी जाएगी। शासनादेश के अनुसार ही कटान पीड़ितों को बसाया जाना चाहिए।चेताया कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो भविष्य में गंभीर आंदोलन होगा।

बोले अफसर
ग्राम पंचायत गोपालपुर व केहरपुर के अगल-बगल में सरकारी जमीन उपलब्ध होगी तो उन्हें बसाया जाएगा। अगर सरकारी जमीन नहीं मिलेगी, तब क्रय करके बसाया जायेगा।
प्रशांत कुमार नायक, उपजिलाधिकारी बैरिया


शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments