बलिया DM के सामने आई ऐसी-ऐसी शिकायतें


बैरिया, बलिया। सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही का तल्ख तेवर देख अधीनस्थ बैकफुट पर नजर आये। अधीनस्थों ने सभी लम्बित मामलों का समाधान करने का भरोसा देते हुए एक मौका देने का आग्रह किया।
जिलाधिकारी ने लगभग सभी विभागों के अधिकारियों को एक मौका देते हुए अपनी  जिम्मेदारियों की सजगता पूर्वक निर्वहन करने का निर्देश दिया। कहा कि यह अंतिम मौका है। इसके बाद शिथिलता मिली तो सीधे दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। वरासत के 111 मामले कोड़हरा उपरवार व शेरडीह का लम्बित मिलने पर राजस्व निरीक्षक व लेखपालों का जमकर क्लास लिया। कहा कि एक सप्ताह में कार्य पूरा करें। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर बनने वाला हेल्थ एंड फेमिली बेलनेस सेंटर के निर्माण के विषय में डीएम ने सोनबरसा अस्पताल के अधीक्षक डाक्टर आशिष कुमार से पूछा कि आप इस योजना के सम्बंध में जानते है ? फिर डीएम ने सीएमओ से इस संदर्भ में पूछा और बताया कि हर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रसव के लिए पहुंचने वाली माताओं का जांच कराने के लिए जांच केंद्र बनना है। इसके लिए यह योजना है।जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी प्रशान्त कुमार नायक से कहा कि अनुसूचित जनजातियों को प्रमाण पत्र जारी करने के लिए स्पष्ट आख्या आप से मांगा गया था। आप ने स्पष्ट आख्या देने की जगह ऐसा आख्या दिया कि मामला सुलझने की बजाय और उलझ गया है। ऐसा नही होना चाहिए। आप इस बाबत स्पष्ट आख्या भेजें।रानीगंज बाजार निवासी माधुरी केसरी ने अपने पति व ससुरालियों पर दहेज के लिए मारपीट करने और घर से निकाल देने का आरोप लगाते हुए बताया कि बैरिया पुलिस मेरी रिपोर्ट नही दर्ज कर रही है। सम्पूर्ण समाधान दिवस में मौजूद एसपी डाक्टर विपिन टाडा ने बैरिया पुलिस को तत्काल एफआईआर दर्ज कर कठोर कार्रवाई का निर्देश दिया। इसी तरह जगदेवा ढ़ाही की मालती वर्मा ने शिकायत की कि प्रधानमंत्री आवास का प्रथम क़िस्त का पैसा उसका पति उमेश वर्मा उससे छीनकर कही चला गया है। इससे आवास नही बन पा रहा है। जिलाधिकारी ने इस संदर्भ में त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश अधीनस्थों को दिया। इसी तरह कुल 48 मामले ही जिलाधिकारी के अध्यक्षता में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में आये। इसमे पांच मामलों का निस्तारण हो पाया। सम्पूर्ण समाधान दिवस में डीएम-एसपी के अलावा सीएमओ डाक्टर राजेन्द्र प्रसाद, बेसिक शिक्षा अधिकारी शिवनारायण सिंह, जिलापूर्ति अधिकारी कृष्ण गोपाल पांण्डेय, समाज कल्याण अधिकारी अभय सिंह, उपजिलाधिकारी प्रशान्त कुमार नायक, अधिशासी अभियंता विद्युत अजय कुमार गौतम, जिला पिछड़ा वर्ग अधिकारी राजीव कुमार, सीओ आरके त्रिपाठी, तहसीलदार शिवसागर दुबे सहित अनेक विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments