बलिया : जाम लड़ा रहे पियक्कड़ों की गुंडई, दो किसान भाईयों को पीटा


नरही, बलिया। नरहीं थाना क्षेत्र के उजियार घाट सरयां सरकारी शराब दुकान के पास शराबियों ने किसान की पिटाई करने के बाद कट्टे से फायर झोंक दिया। एक किसान को दो छर्रे लगने की बात कही जा रही है। इस घटना को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। पीड़ित ने इसकी शिकायत नरही पुलिस से किया है।
उजियार घाट सरयां गांव स्थित अंग्रेजी देसी सरकारी शराब की दुकान के सौ मीटर की दूरी पर गन्ने के खेत में 7-8 की संख्या में शराबी शराब पी रहे थे, तभी सरयां निवासी किसान गोपाल यादव खेत की सिंचाई के लिए जाते वक्त पियक्कड़ों पर टॉर्च जला दिया और खेत में बैठने का कारण पूछा। खेत में बैठे अज्ञात लोगों ने गोपाल यादव की पिटाई शुरू कर दी। आवाज सुनकर भाई मोहन यादव पहुंचा तो उसे भी पीटने लगे, तभी किसी ने कट्टे से फायर कर दिया। दो छर्रे मोहन के मुंह पर लगे। पिटाई एवं छर्रे से घायल दोनों किसानों का इलाज बिहार के बक्सर जिला चिकित्सालय अस्पताल में कराया गया। इस घटना की शिकायत पीड़ित ने सोमवार को नरही पुलिस से की है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

शराब दुकान बंद कराने का निर्णय
उजियार घाट सरयां गांव स्थित अंग्रेजी और देसी शराब की सरकारी दुकान को हटाने के लिए उजियार तिराहे पर कमला राय के दरवाजे पर ग्रामीणों की बैठक हुई। इसमें इस घटना को लेकर आक्रोश व्यक्त किया गया। साथ ही वहां से दोनों दुकानों को हटाने के लिए आगे की रणनीति तय की गई। उजियार सरयां गांव के लोगों ने एक स्वर में निर्णय लिया कि शराब की दुकान को हटाया जाएगा तथा कोई भी व्यक्ति दुकान खोलने के लिए न जमीन देगा न मकान देगा। इसकी शिकायत जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक तथा आबकारी विभाग से किया जाएगा। ग्रामीणों का गुस्सा इस बात को लेकर था कि आए दिन पियक्कड़ों द्वारा मारपीट की घटना प्रकाश में आ जा रही हैं, जिससे लोगों का जीना मुहाल हो गया है। अब समस्या का समाधान जड़ से समाप्त करने के लिए दुकान को यहां से हटाया जाना ही एकमात्र उपाय है। बैठक में सपा नेता संतोष भाई, पूर्व जिला पंचायत सदस्य कुबेर नाथ तिवारी, सरयां प्रधान प्रतिनिधि जय प्रकाश उपाध्याय, कमला राय, राजेश राय, मुनेंद्र राय, मुन्ना राय, मार्कंडेय राय, अशोक राय, मुकेश तिवारी, राकेश तिवारी, चंदन तिवारी, गोपाल यादव, मोहन यादव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

गोली चलने की बात बेबुनियाद
नरही थाना प्रभारी ज्ञानेश्वर मिश्र ने बताया कि आधा दर्जन पियक्कड़ गन्ने के खेत में बैठकर शराब पी रहे थे। इन लोगों ने टीका टिप्पणी की। इसके बाद पियक्कड़ डंडे से हमला कर फरार हो गए। गोली चलने की बात बेबुनियाद है। पुलिस हमलावरों का पता लगाने में जुटी हुई है।

कमल राय

Post a Comment

0 Comments