बलिया : पूर्व मंत्री विक्रमादित्य पांडेय को गांव ने कुछ यूं किया याद


हल्दी, बलिया। उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री रहे विक्रमादित्य पाण्डेय की पुण्यतिथि की पूर्व संध्या पर उनके पैतृक गांव बसुधरपाह में शैक्षिक विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। पूर्व माध्यमिक विद्यालय पर आयोजित गोष्ठी का शुभारम्भ बतौर मुख्य अतिथि सीनियर बेसिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष संतोष पाण्डेय ने स्व. विक्रमादित्य पाण्डेय के चित्र पर पुष्प अर्पित कर किया।
मुख्य अतिथि ने कहा कि विक्रमादित्य पाण्डेय ने अपने जीवन काल में परिचित, अपरिचित सभी की नि:स्वार्थ सेवा की। वे कर्मठ, यशस्वी एवं विद्यानुरागी थे। कार्यक्रम आयोजक सुशान्त कुमार पाण्डेय ने कहा कि विक्रमादित्य पाण्डेय एक ऐसे व्यक्तित्व का नाम था, जिन्होंने शिक्षक होते हुऐ जन सेवा की भावना से अपने पैतृक गांव बसुधरपाह का प्रधान पद पर आसीन होकर राजनीतिक जीवन की शुरुआत किया। तीन बार बेलहरी ब्लाक प्रमुख और 3 बार विधायक तथा कैबिनेट मंत्री रहे। अपने कार्यकाल में जितना काम उन्होंने कराया, वह अनुकरणीय है।सुशान्त ने स्व. पाण्डेय जी के अधूरे सपने को पूरा करने का संकल्प लिया। प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि आज उनकी कमी हम लोगो को खल रही है। दुर्गाभ्य है कि ऐसे गांव की धरोहर ठाकुर बाड़ी से 6 वर्ष पहले चोरी हुई अष्टधातु की मूर्ति आजतक बरामद नहीं हुई। श्रीप्रकाश पाण्डेय मुन्ना व छोटू सिंह आदि वक्ताओं ने स्व. पांडेय जी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला। इस मौके पर  चिराग उपाध्याय, प्रेमचन्द्र मिश्रा, निल्कू भाई रौशन, जीतू यादव, आशीष पाण्डेय, हरेराम पाण्डेय, शशिभूषण पाण्डेय दादा, पुनीत, ओमप्रकाश पाण्डेय, कुन्ज बिहारी, सुधाकर पाण्डेय सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे। अध्यक्षता विजय किशोर पाण्डेय तथा संचालन कृषि वैज्ञानिक हरिष पाण्डेय ने किया।

आतीश उपाध्याय

Post a Comment

0 Comments