बलिया : सरेराह सीएसपी संचालक के करीबी से लूट, जांच में जुटी पुलिस


मनियर, बलिया। बदमाशों ने सरेराह सीएसपी संचालक के करीबी से 1,74,000 रुपए नगद, पल्सर गाड़ी एवं मोबाइल लूट की सनसनीखेज घटना को अंजाम देकर सनसनी फैला दी। मनियर थाना क्षेत्र के महिंद्रा ढाले पर सोमवार को लगभग 11:30 बजे के आसपास घटित इस घटना की सूचना पर पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा भी 
मौके पर पहुंच गये। सीएसपी संचालक के साथ ही जिस व्यक्ति के साथ लूट की घटना घटी है, पुलिस उससे पूछताछ कर रही है ।बताया जाता है कि अख्तर अंसारी की बांसडीह कोतवाली थाना क्षेत्र के खादीपुर (सुल्तानपुर) गांव में सीएसपी चलाता है। उसी सीएसपी का पैसा निकालने मनियर स्टेट बैंक में मनीष यादव (निवासी खादीपुर) आया था। वह बैंक से 1,74,000 रुपये करीब 11 बजकर 25 मिनट पर निकालकर ले जा रहा था। महिंद्रा ढाले के पास दो अपाची बाइक पर चार सवार वहां पहले से खड़े थे। उसे रोक कर सिर पर चोट करके पाकेट से पैसा निकाल कर उसकी पल्सर बाइक और मोबाइल छीन कर मनियर के तरफ भाग गए। पुलिस अपराधियों की धरपकड़ करने की पूरी प्रयास की, लेकिन उन्हें कोई सफलता नहीं मिली। पुलिस मामले की जांच पड़ताल कर रही है। पुलिस अधीक्षक डॉ. विपिन ताडा ने बताया कि मामले की जांच पड़ताल चल रही है।

सीएसपी का कार्यभार देख रहा है मनीष यादव

मनियर थाना क्षेत्र के मुड़ियारी निवासी अख्तर अंसारी पुत्र सैफुद्दीन अंसारी का बांसडीह कोतवाली थाना क्षेत्र के खादीपुर (सुल्तानपुर) गांव में भारतीय स्टेट बैंक की सीएसपी संचालित होती है। उक्त सीएसपी का कार्यभार मनीष यादव पुत्र सत्यदेव यादव (निवासी : खादीपुर, सुल्तानपुर, थाना बांसडीह) देखता है। कुछ माह पूर्व एक मामले में अख्तर अंसारी जेल में बंद था। कुछ लोग बताते हैं कि मनीष यादव के नाम से ही भारतीय स्टेट बैंक शाखा मनियर ब्रांच से सीएसपी के पैसे की लेनदेन होती थी और उसका ही फिंगरप्रिंट वेरीफाई अख्तर अंसारी कराया था। मनीष यादव भारतीय स्टेट बैंक ब्रांच मनियर से पैसा निकासी कर खादीपुर (सुलतानपुर) सीएसपी पर जा रहा था, तभी उसके साथ लूट की घटना घटी।

वीरेन्द्र सिंह

Post a Comment

0 Comments