बलिया में सामने आया तीन तलाक का मामला, फोन पर पति ने विदेश से दिया तलाक


बलिया। सरकार द्वारा भले ही तीन तलाक को लेकर सख्त कानून पारित किया गया है। लेकिन तीन तलाक का मामला थमता नहीं दिख रहा है। जिले के गड़वार थाना क्षेत्र के सिकारियां गांव से तीन तलाक का मामला सामने आया है। सिकारियां की रहने वाली नाजिश बेगम की निक़ाह कुतुबद्दीन उस्मानी के साथ 2018 में मऊ जनपद के रामपुर थाना के ढिलाई फिरोज में हुआ था। निकाह के तीन माह बाद ही पति कतर (विदेश) चले गया। पीड़िता नाजिश बेगम की माने तो निकाह के तीन माह बाद ही पति के विदेश चले जाने के बाद परिवार में विवाद हो गया। वहीं विदेश से ही पति ने फोन कर तीन बार तलाक... तलाक... तलाक... बोल कहा कि  तोहरे साथ नइखे रहेके चाहे जवन हो जाइ।इसका ऑडियो वायरल भी हुआ है। कई बार पीड़िता गड़वार थाने पर गई, परन्तु मुकदमा दर्ज नहीं हुआ। इसको लेकर शुक्रवार को एसपी दरबार में अपनी दो वर्ष की बच्ची के साथ पहुंची नाजिश बेगम ने न्याय की गुहार लगाई। नाजिश बेगम का निक़ाह कुतुबद्दीन उस्मानी के साथ 08 फरवरी 2018 में मऊ जनपद के रामपुर थाना के ढिलाई फिरोज में हुआ था। निकाह के कुछ दिन बाद पति कुतुबद्दीन उस्मानी के साथ हसी ख़ुशी से रहते थे। तीन महीने बाद बाद पति कुतुबद्दीन उस्मानी विदेश (कतर) चले गए। उसके बाद नाजिश बेगम अपने मायके चली आई। कुछ दिन बाद नाजिश अपने ससुराल गई थी। पति के फोन से बात होती रहती थी कि सास और ननद मिलकर मुझे परेशान करने लगे है।

ननद का लड़का जबरदस्ती पर हुआ उतारू, पति को बताई तो तीन तलाक़ बोल बैठा

पीड़िता के अनुसार उसके ननद के लड़के ने उसके साथ जोर जबरदस्ती करने लगता था। मेरे ऊपर गलत निगाह डालता था। जब सारी बात अपने पति को बताई तो मेरे पति ने वहां से फोन कर धमकी देने लगा और कहने लगे की तुमको नहीं रखेंगे। फोन पर ही तीन बार तलाक तलाक तलाक 28 जुलाई 2020 की शाम लगभग सात बजे के करीब बोल बैठे। उस दौरान नाजिश अपने ससुराल में थीं और ससुराल के लोग नाजिश बेगम से लड़ाई झगड़ा करने लगे। नाजिश बेगम को ससुराल से भगा दिया गया। 28 को अपने मायके सिकारियां चली आई। उसके बाद पति कुतुबद्दीन उस्मानी का कोई फोन नहीं आया। यहां तक कि नाजिश बेगम की मोबाईल नम्बर को पति ने अपने सेट से ब्लॉक कर दिया। घटना की सूचना देने जब पीड़ित महिला गड़वार थाना पर गई तो उसकी एक नहीं सुनी गई। गड़वार न्याय नहीं मिला, तब शुक्रवार को बलिया पुलिस अधीक्षक से गुहार लगाने पहुंच गई। अपर पुलिस अधीक्षक से आश्वासन मिला हैं कि आपको फोन से बताया जायेगा। पीड़िता ने कहा कि मेरी एक बच्ची है, जो लगभग 2 वर्ष की हुई है। 2018 के 12वें महीने में इस मासूम बच्ची का जन्म हुआ था। 

पिता ड्राइवर हैं, मायके में रहती हूं, अगर पति आकर कहेंगे तो उनके साथ रहूंगी

नाजिश बेगम के पिता ट्रक ड्राइबर हैं। नाजिश बेगम की चार बहन है, जिसमे दो बहन की शादी हो गई है। अभी दो बहनों की शादी करनी है, लेकिन अभी पिता जी लॉक डाउन के दौरान से घर पर ही रह रहे हैं। नाजिश बेगम के अनुसार अगर उसका पति आकर हमे रखेंगे तो हम पति के ही साथ रहेंगे। 

महिला थानाध्यक्ष को निर्देशित किया गया है: एएसपी

अपर पुलिस अधीक्षक संजय कुमार ने बताया कि एक महिला ने प्रार्थना पत्र दिया हैं। उसमें लिखा हैं कि परिजनों द्वारा उसको परेशान किया जाता हैं। इस संबंध में थानाध्यक्ष महिला को निर्देशित किया गया हैं कि जांच करे। अगर सत्यता पाई जाय तो नियमानुसार कार्यवाही करें।

Post a Comment

0 Comments