Book This Side For Ads....Purvanchal24

बलिया : कानून व्यवस्था तार-तार कर रहे पियक्कड़, पुलिस मौन


बैरिया, बलिया। क्षेत्र की सरकारी शराब व बीयर की दुकानों के निकट अघोषित बार संचालन से आए दिन कानून व्यवस्था को पियक्कड़ तार-तार करने में लगे हुए हैं। शराब व शराबियों के प्रति पुलिस की नरम रवैया चर्चा का विषय बना हुआ है। तेजतर्रार व ईमानदार पुलिस अधीक्षक के आने के बावजूद पुलिस कर्मियों की कार्य पद्धति में कोई बदलाव नहीं आ रहा है। 

उल्लेखनीय है कि दोकटी, बैरिया, हल्दी व रेवती थाना क्षेत्र के अधिकांश अंग्रेजी देसी सरकारी शराब की दुकानों व बीयर की दुकानों के सामने चखने की दुकानें संचालित होती हैं। वहां कुर्सी मेंज लगे हुए हैं। जिस तरह बार में बैठकर शराब पीते हैं, ठीक उसी तरह से इन चखनो की दुकानों में शराब अथवा बीयर का सेवन किया कर करते हैं। नशा में हो जाने के बाद उधम मचाना तथा राहगीरों से दुर्व्यवहार आम बात है। पुलिस सब कुछ जान कर अनजान बनी हुई है। जहां तक चांददियर सहित क्षेत्र के सीमावर्ती इलाकों की बात है, वहां बड़ी संख्या में बिहारी पियक्कड़ एकत्र होते हैं। इसमें अच्छी खासी संख्या अपराध जगत से जुड़े लोगों की भी है। वहां जमकर शराब की महफिल सजती है। दारू पीने के बाद कोई बिहार सरकार को कोसता है, तो कोई किसी और तरह की बात करते हुए उधम मचाते हुए बिहार चला जाता है। यहां के लोग इस तरह की व्यवस्था से डरे हुए है। लोगों ने उम्मीद जताई है कि नए पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में इस समस्या का समाधान हो जाएगा। अब देखना है कि कब तक लोगों को इस स्थिति से निजात मिलती हैं।

खुलेआम बिक रही अवैध शराब

बैरिया क्षेत्र के दर्जनों स्थानों पर अवैध शराब की बिक्री कोढ़ में खाज बना हुआ है। बैरिया थाना के निकट, मिश्र के मठिया, बैरिया दलित बस्ती, बिंद का टोला, रानीगंज पूरब फाटक, इब्राहिमाबाद, मधुबनी, करमानपुर, जगदेवा ढाही सहित अधिकांश गांव के आस-पास अवैध शराब खुलेआम बिक रहा है। पुलिस मूक दर्शक बनी हुई है।वही अवैध शराब की बिक्री से ग्रामीणों को भारी परेशानी हो रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि नए पुलिस अधीक्षक से लोगों  के मन में यह उम्मीद जगी है कि नए पुलिस अधीक्षक अवैध शराब की बिक्री पर ब्रेक लगाएंगे।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments