फर्जीवाड़ा में प्रधानाध्यापक गिरफ्तार


लखीमपुर। कूटरचित दस्तावेजों के सहारे शिक्षक बने जालसाज को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह छह माह से पुलिस को चकमा दे रहा था। इसके खिलाफ न्यायालय से वारंट भी जारी था। 

थाना फरधान में छह माह पहले पतिराम सिंह (निवासी परसेहरी कलां, थाना फूलबेहड़) के खिलाफ दर्ज हुआ था। पतिराम फर्जी Certificate के सहारे 37 वर्ष से बेसिक शिक्षा परिषद में शिक्षक की नौकरी कर रहा था। उसकी तैनाती फरधान थाना क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय खखरा मिर्जापुर में  प्रधानाध्यापक था। छह माह पहले उसकी सेवानिवृत्ति का दिन था, तभी उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। इसके बाद से ही वह फरार चल रहा था। मंगलवार को उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ में पतिराम ने बताया है कि वह मूल रूप से गाजीपुर का निवासी है। उसके पिता ने वर्ष 1972 में उसकी हाईस्कूल की फर्जी मार्कशीट आजमगढ़ से बनवाई थी। उसी फर्जी मार्कशीट के सहारे वह बेसिक शिक्षा विभाग में नियुक्त हो गया था। वह 37 वर्षों तक नौकरी करता रहा। 

Post a Comment

0 Comments