धरना-प्रदर्शन से पहले बलिया प्रशासन ने लगाई जनचौपाल, बन गई बात


रामगढ़, बलिया। बैरिया तहसीलदार पंडित शिवसागर दुबे की अध्यक्षता में दुबे छपरा मोड़ पर स्थित एक निजी स्कूल प्रांगण में सोमवार को जनचौपाल का आयोजन किया गया। इसमें तहसील प्रशासन द्वारा बाढ़ व  कटान से बेघर केहरपुर तथा गोपालपुर के कटान पीड़ितों को जमीन क्रय कर बसाने की सूची को पीड़ितों के बीच क्षेत्रीय लेखपाल आकाश सिंह ने पढ़कर सुनाया। तहसीलदार पं. शिवसागर दुबे ने कटान पीड़ितों को संबोधित करते हुए कहा कि  अभी भी मौका है, जिन कटान पीड़ितों का नाम छूट गया है वह क्षेत्रीय लेखपाल से मिलकर अपना नाम सूची में दर्ज करा लें। इस सूची में किसी पात्र का नाम छूट गया है वह बताएं, ताकि नाम सूची में जोड़ा जा सके।

बताते चलें कि वर्ष 2016 से 2019 तक जिन कटान पीड़ितों का घर गंगा की लहरों में विलीन हो गया था और वे राष्ट्रीय राजमार्ग 31 पर झोपड़ी लगाकर जीवन यापन कर रहे हैं या रिश्तेदारों के यहां शरण लिए हैं, उन कटान पीड़ितों के मुद्दे को लेकर कांग्रेस नेता व इंटक जिलाध्यक्ष विनोद सिंह ने अपर जिलाधिकारी से लगायत जिलाधिकारी तक का दरवाजा खटखटाया था। साथ ही 12 जनवरी को कटान पीड़ितों की समस्या को लेकर दुबे छपरा मोड़ पर धरना प्रदर्शन करने का अल्टीमेटम जिला प्रशासन को दिया था। धरना प्रदर्शन व चक्का जाम की सूचना मिलते ही बैरिया तहसील प्रशासन में हड़कंप मच गया। पीड़ितों की समस्या समाधान को लेकर गतिविधि शुरू हो गई। 

आनन-फानन में तहसीलदार ने 11 जनवरी को ही दुबे छपरा में जन चौपाल लगाकर पीड़ितों की सूची को कटान पीड़ितों के बीच पढ़कर सार्वजनिक किया। श्री दुबे ने कहा कि  शासन की मंशा के अनुरूप जमीन क्रय कर बसाने की योजना चल रही है। ग्राम सभा गोपालपुर में कुल 72 कटान पीड़ितों की सूची क्षेत्रीय लेखपाल द्वारा तहसील प्रशासन को सौंपी गई थी। साथ ही ग्राम सभा केहरपुर के 92 कटान पीड़ितों की सूची तहसील प्रशासन को सौंपी गई थी। उस सूची को शासन की मंशा के अनुरूप इस जन चौपाल में सार्वजनिक किया गया, ताकि अपात्रों का नाम सूची से हटा दिया जाए। पात्र व्यक्ति को ही इस योजना का लाभ मिल सके। इस मौके पर क्षेत्रीय कानूनगो महेंद्र प्रताप सिंह, क्षेत्रीय लेखपाल आकाश सिंह, मुन्ना यादव, पूर्व प्रधान नागेंद्र सिंह, पूर्व प्रधान बिजेंद्र सिंह, राजू राम, नारायण जी सिंह, लालबाबू इत्यादि सैकड़ों कटान पीड़ित मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments