पीएम-सीएम आवास योजना को लेकर बालिया CDO ने जारी किया यह आदेश, ताकि....


शिवदयाल पांडेय 'मनन'
बैरिया, बलिया। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व मुख्यमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को मनरेगा से 90 से 95 दिवस का रोजगार देने के लिए शासन के निर्देश पर मुख्य विकास अधिकारी (CDO) ने बैरिया, मुरलीछपरा व रेवती सहित समस्त बीडीओ को आदेश दिया है। यही नहीं इन लाभार्थियों को गांव में मनरेगा से हो रहे कार्यो में 10 से 05 दिवस का रोजगार देकर 100 दिवस का रोजगार उपलब्ध कराने का भी आदेश दिया गया है।
प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व मुख्यमंत्री आवास योजना के सम्बंध में शासन स्तर से समीक्षा में पाया गया है कि लाभार्थियों को मनरेगा के तहत 90 से 95 दिवस का रोजगार नहीं मिल रहा है। इससे सरकार को इन लाभार्थियों को 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराने की मंशा पूरी नहीं हो पा रही है। ऐसे में ग्राम विकास विभाग के आयुक्त के. रविन्द्र नायक ने जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी को पत्र लिखकर अवगत कराया है कि लाभर्थियों को 100 दिवस का रोजगार नहीं दिया जा रहा है।शासन के आदेश पर मुख्य विकास अधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी को आदेश दिया है कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व मुख्यमंत्री आवास योजना के निर्माणाधीन आवासों में अवशेष मानव दिवस का मस्ट्रोल निर्गत करते हुए 90 से 95 दिवस का रोजगार मनरेगा से दिया जाना सुनिश्चित किया जाय। वहीं, वित्तीय वर्ष 2020-21 में भी जिन लाभार्थियों का आवास स्वीकृत कर दिया गया है, उन लाभार्थियों को आवास की प्रथम क़िस्त की धनराशि प्राप्त होने से पूर्व 10 से 05 दिन का रोजगार मनरेगा से उपलब्ध करा दिया जाय। आदेश में यह स्पष्ट किया गया है कि आवास योजना के प्रथम क़िस्त के साथ 28 से 30 मानव दिवस का मस्ट्रोल, द्वितीय क़िस्त के साथ 62 से 65 दिवस का मस्ट्रोल मनरेगा से एक साथ निर्गत करने की कार्रवाई की जाय।

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण व मुख्यमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को मनरेगा योजना के तहत 90 से 95 दिवस का रोजगार देना है। वही इन लाभार्थियों को 10 से 05 दिवस का मनरेगा कार्यो में रोजगार देकर 100 दिन का रोजगार पूर्ण करना है। शासन के निर्देश पर मुख्य विकास अधिकारी का आदेश मिला है।
रामआशीष
BDO बैरिया/मुरलीछपरा, बलिया

Post a Comment

0 Comments