बलिया : प्रीति ने मौत को लगाया गले, घर में रोता रहा मासूम


बलिया। सहतवार थाना क्षेत्रके बघांव गांव में एक 23 वर्षीय महिला फन्दा पर लटककर संदिग्ध परिस्थिति में जान दे दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने फारेन्सिक जांच के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला मुख्यालय भेज दिया।
बताया जा रहा है कि बघांव निवासी आकाश चौबे का भतीजा निहाल गुरुवार की सुबह अपने चाची प्रीति चौबे (23) को सुबह 7 बजे के करीब दूध देने के लिए दरवाजा खटखटाया, लेकिन दरवाजा अन्दर से नहीं खुला। दरवाजा तेजी से खटखटाने के बीच प्रीति का छोटा बच्चा जोर जोर से रोने लगा।इसके वावजूद दरवाजा नहीं खुला तो घर वालो को किसी अनहोनी की अशंका हुई। वे घर के पीछे से जाकर रोशनदान से झांककर देखे तो प्रीति फंन्दे से लटक रही थी। घर के लोग दरवाजा तोड़कर बाहर निकाले। इसकी सूचना उसकी मां चिन्ता देवी को बरियारपुर और मऊ में प्राईवेट काम कर रहे उनके पति आकाश चौबे को दी। सूचना मिलते ही आकाश तुरन्त लड़की के पिता अजय तिवारी को साथ लेकर 11 बजे के करीब घर पहुंच गया। 
2016 में हुई थी शादी
आकाश की शादी 2016 में सहतवार थाना क्षेत्र के बरियारपुर निवासी अजय तिवारी की लड़की प्रीति से हुयी थी। शादी के बाद लड़की के पिता के साथ आकाश मऊ में प्राईवेट काम कर परिवार चलाता है। प्रीति ने आत्महत्या क्यों की, लोगों को समझ में नहीं आ रहा है। पुलिस जांच कर रही है। 

Post a Comment

0 Comments