To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया : निजी वाहन वाले काट रहे यात्रियों की जेब


बैरिया, बलिया। छपरा बलिया वाराणसी रेलखंड पर पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन पिछले 11 महीने से बंद होने के कारण यात्रियों को घोर असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ बसों में ठूंस ठूंस कर यात्री ले जाए जा रहे हैं, वहीं सरकार कोरोना के नाम पर गरीबों का शोषण करने का मौका निजी वाहन संचालकों को दे रखा है।
उल्लेखनीय है कि मार्च 2020 से ही कोरोना संक्रमण रोकने के लिए ट्रेनों का परिचालन सरकार द्वारा बंद कर दिया गया था। बाद में कुछ मेल एक्सप्रेस गाड़ियां स्पेशल के नाम पर चलाई गई, किंतु पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन अभी भी पूरी तरह बंद है। फलस्वरूप जिला मुख्यालय पर कार्यरत कर्मचारी, अधिवक्ता, व्यापारी आदि लोग सड़क मार्ग से यात्रा करने को मजबूर है। सड़क परिवहन संचालक लोगों का जमकर धनादोहन कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि सड़क परिवहन में कोरोना संक्रमण नहीं बढ़ता है तो ट्रेनों के परिचालन में कोरोना संक्रमण कैसे बढ़ेगा। इसलिए पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन अति आवश्यक है। इस संदर्भ में व्यापार मंडल रानीगंज के नेता रोशन गुप्ता, प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ के जिला प्रभारी पंकज सिंह सहित कई लोगों ने डीआरएम वाराणसी को पत्र भेजकर पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन शुरू कराने का आग्रह किया है।

शिवदयाल पांडेय 'मनन'

Post a Comment

0 Comments