To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बलिया SP के निर्देशन में पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो आजाद-चार गिरफ्तार


बलिया। पुलिस अधीक्षक डा. विपिन ताडा  द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाए जा रहे अभियान के तहत शुक्रवार को कोतवाली पुलिस, एसओजी टीम तथा सर्विलांस टीम को बड़ी सफलता मिली। पुलिस टीम ने बंधक बनाये गये दो लोगों को आजाद कराने के साथ ही चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। 
23 दिसंबर 2020 को छोटका दुबहड़ निवासी रविंद्र वर्मा पुत्र स्व. बहादुर वर्मा ने दुबहड़ थाना को सूचना दिया कि उसका भाई राधेश्याम वर्मा 21 दिसंबर को अपने घर से राजमिस्त्री का काम करने के लिए बलिया शहर में शनिचरी माई मंदिर के पास राणा प्रताप सिंह के यहां गया हुआ था, जो प्रतिदिन की भांंति वापस नहीं आया। कुछ देर बाद अपने फोन से मेरे भाई ने मेरे  फोन कर बताया कि मुझे उदय सिंह उर्फ रुदल सिंह (निवासी छपरा सारण जिला सारण बिहार) के साथ राम प्रताप सिंह (निवासी मऊ) ने पैसे के संबंध में जो विवाद लोकनाथ यादव (निवासी पांडेपुर, थाना फेफना) के साथ चल रहा था, उस प्रकरण में समझौता कराने हेतु पांडेपुर बुलाया था। मैं रुदल सिंह के साथ वहां पर गया तो लोकनाथ यादव व उनके लड़के अनूप यादव समेत 5 लोगों ने मुझे तथा उदय सिंह उर्फ रूदल सिंह को जबरन बंधक बना लिया है। मुझसे तथा रुदल सिंह से पैसे की मांग कर रहे हैं। पैसे नहीं देने पर जान से मार देने की धमकी दे रहे हैं। तहरीर में रविंद्र वर्मा ने लिखा कि मैंने अनूप यादव के एकाउन्ट में ₹40000 जमा कर दिया, तब भी मेरे भाई को बंधक बनाकर रखे हैं। पुलिस ने धारा 342/386 भादवि पंजीकृत कर छानबीन शुरू कर दी। मामले को संज्ञान में लेते हुए एसपी ने त्वरित कार्रवाई का निर्देश दिया।
सर्विलांस टीम की मदद से अभियुक्तों का  लोकेशन ट्रेस करने के उपरांत पुलिस टीम उस स्थान (पाण्डेयपुर लोकनाथ यादव के ट्यूबेल) पर पहुंची, जहां पर अभियुक्तों द्वारा दोनों पीड़ितों को बंधक बनाकर रखा गया था। पुलिस की टीम ने लोकनाथ यादव पुत्र घूरन यादव, अनूप यादव पुत्र लोकनाथ यादव (निवासी पांडेयपुर, थाना-फेफना, बलिया),  श्रवण कुमार पुत्र स्व. लाल बहादुर (निवासी गढ़मलपुर, थाना-पकड़ी, बलिया), शम्भू यादव पुत्र रामचंद्र यादव (निवासी बैजाबारी थाना रौनापार आजमगढ़) को मौके से गिरफ्तार कर बंधक बनाए दोनों पीड़ितों को मुक्त करा लिया गया।गिरफ्तार अभियुक्तों के खिलाफ कर पंजीकृत अभियोग में धारा 323, 504, 506 भादवि की बढ़ोत्तरी कर  चारों को चालान न्यायालय किया गया।

गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम
गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रनि दुबहड़ अनिल चन्द्र तिवारी, उनि दुबहड़ लाल बहादुर, उनि राजकुमार सिंह प्रभारी एसओजी, उनि संजय सरोज एसओजी तथा आरक्षी एसओजी व सर्विलांस अनूप सिंह, वेद प्रकाश दुबे, अतुल सिंह, विजय राय, अनिल पटेल, शशि प्रताप सिंह, राकेश यादव, रोहित यादव शामिल रहे।

Post a Comment

0 Comments