To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में बलिया की बेटी ने दर्ज कराया अपना नाम, जानिए कैसे


बलिया। श्रीमद भगवदगीता पर आधारित 'मोक्ष का वृक्ष' पेंटिंग तैयार कर बलिया की नेहा सिंह ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराया है। कोरोना काल में भी नेहा की पेंटिंग खूब पंसद की गई थी। काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) से वैदिक विज्ञान में अध्ययनरत नेहा 16 लाख मोतियों से भारत का नक्शा बनाने व उंगलियों के निशान पर हनुमान चालीसा लिखने वाली नेहा रसड़ा तहसील क्षेत्र के डेहरी गांव की निवासी है। 

बतौर नेहा, मुझे गर्व है कि मैं बलिया में पैदा हुई। यह इतिहास होगा कि बलिया का नाम गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में पहली बार जा रहा है। अब नेहा 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' पर नया रिकॉर्ड बनाने की तैयारी में हैं। वहीं, जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने रविवार को नेहा के गांव में आयोजित समारोह में उसे सम्मानित किया। डीएम ने न सिर्फ उसकी कलाकृतियों को सराहा, बल्कि हौसलाअफजाई भी की। जिलाधिकारी ने बताया कि नेहा सिंह ने विश्व की सबसे बड़ी 67 वर्ग मीटर की पेंटिंग प्राकृतिक रंगों से बनायी है। इस पेंटिंग से नेहा का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अंकित किया गया है।

Post a Comment

0 Comments