बलिया : कामेश्वर धाम झील की बदलेगी तस्वीर, ताल की घास व जलकुम्भी...


बलिया। जिलाधिकारी श्रीहरि प्रताप शाही ने कहा कि कामेश्वर धाम झील (कवलेश्वर ताल) को सुंदर स्वरूप में लाने का प्रयास होगा।  इसके लिए सबसे पहले जलकुम्भी व पानी के अंदर की घास की काटने वाली मशीन की व्यवस्था होगी और उसी के जरिए सफाई अभियान चलेगा। जिलाधिकारी शनिवार को कारो धाम, कारो पहुंचे थे। वहां उन्होंने लम्बी एरिया में फैले ताल का निरीक्षण किया। 



सफाई से जुड़ी चर्चा के बाद डिप्टी कलेक्टर सर्वेश यादव को निर्देश दिया कि अधिशासी अधिकारी नगरपालिका के साथ गोरखपुर जाएं और वहां रामगढ़ ताल को साफ करने वाली मशीन के संचालन करने वालों से बात करें। वैसी मशीन जिले में भी खरीद ली जाए तो इससे जिले के तमाम जल संरक्षण से जुड़े ताल तलैया की सफाई आसानी से हो सकेगी। उन्होंने मन्दिर प्रबन्धन से बातचीत में जोर देकर कहा कि यहां कुछ ऐसी व्यवस्था की जाए, ताकि लोग कूड़ा-कचरा तालाब में ना फेंके। जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी और एडीओ पंचायत से कहा कि यहां जो काम मनरेगा से हो सकता है, उसको मनरेगा से कराया जाए। जो खर्चे वाले काम होंगे, उसको जिला पंचायत व अन्य विभागों से समन्वय स्थापित कर कराया जाएगा। बीडीओ को यह भी निर्देश दिया कि तालाब किनारे कम्पोस्ट पिट बनवाएं, ताकि मन्दिर से बाहर निकलने वाले ऑर्गेनिक कूड़ा के सदुपयोग के लिए उससे जैविक खाद बनाया जाए। 

मन्दिर में सपरिवार किया दर्शन-पूजन

कामेश्वर धाम भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी ने सपरिवार दर्शन-पूजन भी किया। खास तौर पर अपनी माता जी को बड़े ही स्नेह से मन्दिर में ले गए और मन्दिर की पुरातन कहानियों को बताया। वहां की पौराणिक विन्दुओं के बारे में भी जानकारी ली और अपनी माता जी से उसका जिक्र किया। मन्दिर के अंदर स्थित ऐतिहासिक पेड़ व अन्य खास जगह दिखाई।

Post a Comment

0 Comments