'भृगु क्षेत्रे बलिया गौरव संस्मरण' और 'अ‌ाखिर क्यों' से युवा पीढ़ी को मिलेगी प्रेरणा


बलिया। वाइल्ड बंच क्रिएशंस, बलिया के तत्वावधान में अमृतपाली स्थित अमृतपाली पब्लिक स्कूल में रविवार को लोकार्पण एवं समीक्षा कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें डा. मनोरमा श्रीवास्तव द्वारा रचित भृगु क्षेत्रे बलिया गौरव संस्मरण तथा फीनिक्स इंटर नेशनल स्कूल अगरसंडा के छात्र लक्की पांडेय द्वारा रचित अ‌ाखिर क्यो किताब का लोकार्पण किया गया। इसके पूर्व मुख्य अतिथि डा. रामबदन राय, डा. जनार्दन राय, अशोक गुप्ता पत्रकार ने मां सरस्वती के चित्र पर पुष्प अर्पित कर कार्यक्रम की शुरूआत की। इसके बाद अमृतपाली पब्किल स्कूल की छात्राओं ने सरस्वती वंदना व स्वागत गीत प्रस्तुत किया। इस दौरान युवा रचनाकार लक्की पांडेय ने अपनी लिखी कविता का पाठ किया। इसके बाद लक्की पांडेय द्वारा रचित आखिर क्यो किताब की संजय मौर्या, डॉ. शशि प्रेमदेव सिंह, रामजी तिवारी ने समीक्षा की। युवा रचनाकार द्वारा रचित कविता व लेख को किसी ने सराहा तो किसी ने कमियों को अंकित किया। कहा कि युवा रचनाकार से आज के पीढ़ी को प्रेरणा लेनी चाहिये, लेकिन जल्दबाजी नहीं। अंत में साहित्यकार डा. जनार्दन राय ने दोनों रचनाकारों के लेख व ‌कविता के बारे में प्रकाश डाला और उज्ज्वल भविष्य की कामना की। इस मौके पर हरि मोहन श्रीवास्तव, शत्रुघ्न पांडेय, डॉ. राजेंद्र भारती, अनंत प्रसाद रामभरोसे, फतेहचंद्र बेचैन,  देव कुमार सिंह, शिवजी पांडेय रसराज, मोहन श्रीवास्तव, श्रवण कुमार गुप्ता, सुधीर चौरसिया, राहुल यादव, राजीव पांडेय, कादंबिनी सिंह, सुनीता पर्वत, मलिका खां आदि रहे। संचालन फीनिक्स इंटरनेेशनल स्कूल अगरसंडा के प्रबंधक सुनील कुमार यादव ने किया।

Post a Comment

0 Comments