To Learn Online Click here Your Diksha Education Channel...


>>>

बाबा रामदल सूरजदेव स्मारक महाविद्यालय के संस्थापक को अर्पित की श्रद्धांजलि


रसड़ा, बलिया। बाबा रामदल सूरजदेव स्मारक महाविद्यालय पकवाइनार (रसड़ा) के प्रांगण में गुरुवार को महाविद्यालय के संस्थापक राजेन्द्र सिंह की 12वीं पुण्यतिथि धूमधाम से मनायी गयी। कार्यक्रम का शुभारम्भ प्रबंधक मृगेंद्र बहादुर सिंह, प्रबंधक निदेशक शिवेन्द्र बहादुर सिंह, प्राचार्य डॉ. आशुतोष कुमार सिंह व मुख्य अतिथि विजय शंकर ठाकुर ने दीप प्रज्जवलित करने के साथ ही स्व. राजेंद्र सिंह के तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर किया।
मुख्य अतिथि विजय शंकर ठाकुर ने कहा कि आज देश में धर्म और कर्म दोनों का लोप हो रहा है, जिसे बचाने की जिम्मेदारी युवाओं  पर है। संकल्प के साथ लक्ष्य होना चाहिए। महाविद्यालय के प्राचार्य डाॅ. आशुतोष कुमार सिंह ने कहा कि राजेंद्र सिंह ताउम्र अनुशासन की सीख देते रहे। उनका सपना था ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षा को बढ़ावा दिया जाए, ताकि यहां के बच्चों को शिक्षा के लिए दूर दूर न भटकना पड़े। प्रबंधक निदेशक शिवेन्द्र बहादुर सिंह ने स्व. राजेंद्र सिंह का सपना था कि पिछड़े क्षेत्र में होनहार छात्र-छात्राओं को कम पैसे में शिक्षा मुहैया कराया जाए, जो हिंदुस्तान में इस महाविद्यालय का नाम ऊंचा कर सकें। महाविद्यालय में बेहतर तरीके से गुणवत्तापरक शिक्षा दी जाती है। प्रबंधक मृगेंद्र बहादुर सिंह ने आए हुए सभी छात्र छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना की। कार्यक्रम को डा अब्दुलरब सिद्दीकी, आनंद विक्रम सिंह, संतोष कुमार, विजय गिरि आदि ने संबोधित किया। संचालन शुभम तिवारी ने किया।

शिवानंद बागले

Post a Comment

0 Comments