बलिया : लोकबंधु राजनारायण को नमन् पर सपाईयों ने कही ये बात


बलिया। समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय पर लोकबंधु राजनारायण की 34वीं पुण्यतिथि मनाई गई। इस दौरान आयोजित विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने लोकबंधु के व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए उनके समाजवादी विचारधारा को आगे बढ़ने और मजबूती देने की दिशा में कार्य करने का संकल्प लिया। 
नगर विधानसभा प्रभारी लक्षमण गुप्ता ने कहा कि स्व. राजनारायण जी समाज के अंतिम ब्यक्ति के शुभचिंतक और संघर्षो में विश्वास करने वाले नेता थे। उनका पूरा जीवन ही गैर बराबरी के खिलाफ संघर्ष में ही बीत गया। समाजवाद की नई पीढ़ी को राजनारायण जी के जीवन से सीखना चाहिए। लोकबंधु जी राजनीति के फक्कड़ ब्यक्तित्व थे। पार्टी प्रवक्ता सुशील पाण्डेय 'कान्हजी' ने कहा कि स्व. राजनारायण जी एक सच्चे समाजवादी नेता थे। उन्होंने आजीवन समाज के अंतिम ब्यक्ति की भलाई और बेहतरी के लिए संघर्ष किया। समाज के कमजोर लोगों के हक के लिए उन्होंने अपने परिवार से भी लड़ाई लड़ी। लोकतांत्रिक मूल्यों की मजबूती के लिए अनेको संघर्ष किया। कान्ह जी ने कहा कि अपने सिद्धांतों के खातिर किसी भी बड़ी हस्ती से टकराने में स्व.राजनारायण ने कभी भी गुरेज नहीं किया। पार्टी उपाध्यक्ष जमाल आलम ने सभी आगंतुकों के प्रति आभार ब्यक्त किया। इस अवसर पर यशपाल सिंह, मृत्युंजय तिवारी बब्लू, बंशीधर यादव, कुबेर नाथ तिवारी, शशिकान्त चतुर्वेदी, अकमल नईम खा, राज प्रताप यादव, अजय यादव, जयपाल यादव, आदर्श मिश्र झब्बू, राजेश गोंड, नवीन राय गोलू, रोहित चौबे, आशुतोष ओझा,
अनिकेत साहनी, हरेंद्र गोंड, अरुण यादव, निशु श्रीवास्तव, धनञ्जय सिंह विशेन, सुनील कुमार पासवान पिंटू, मिंटू खा, अजय सिंह, कृपा शंकर यादव, राकेश यादव, अमित राय, राहुल राय, मंटू साहनी, राम भरोसे यादव, जितेंद्र यादव, धनजी यादव, अमरजीत यादव,मुन्ना गिरी आदि रहे। अध्यक्षता पार्टी उपाध्यक्ष हीरालाल वर्मा ने किया। 

Post a Comment

0 Comments